खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विश्व दिव्यांग दिवस पर शुक्रवार को रविंद्र भवन में कार्यक्रम आयोजित किए गए। इनमें सात ब्लाक से पहुंचे 250 दिव्यांग बच्चों ने भाग लिया। यहां पहुंचे नितिन ने चित्रकारी का बेहतर प्रदर्शन किया। श्रवण बाधित होने के कारण शिक्षकों के इशारों को समझा व टंट्या मामा का चित्र बनाने का प्रयास किया। मोबाइल में एक बार देखने के बाद ड्राइंग बुक पर पैंसिल से चित्र उकेर दिया। इसमें उन्हें पांच से सात मिनट का समय लगा। यह देख वहां मौजूद सभी लोगों ने उनका उत्साहवर्धन किया। प्रतियोगिता के दौरान रंगोली, दौड़, चेयर रेस प्रतियोगिता हुई। जिसमें दृष्टि बाधित, श्रवण बाधिक व दिव्यांग बच्चों ने भाग लिया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी संजीव भालेराव, डीपीसी पीएस सोलंकी, शिक्षक अनुराग जगनवार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

पास से देखा धीरे-धीरे बनाया तिरंगा

आयोजन में पहुंचे कक्षा तीसरी के कृष्णा गिनारे को बहुत ही कम दिखाई देता है। यह स्थिति भी उनके प्रयास को रोक नहीं पाई। जब उन्हें चित्र बनाने के लिए कहा गया तो उन्होंने कागज के बहुत पास आंखों को सटाकर तिरंगा उकेर दिया। तुषार गांगले ने बहुत ही सुंदर मकान को चित्र के माध्यम से बनाया। इसके अलावा पवन नीरज ने पेड़, विष्णु सुरेश ने व्हील चेयर पर पढ़ाई करते हुआ बालक, दीपा जगताप ने नदियां व पहाड़ के चित्र उकेरे। प्रतियोगिता में 60 बच्चों ने भाग लिया।

दौड़ में शामिल हो जताई खुशी

आयोजन के दौरान दौड़ भी आयोजित की गई। बकायदा ट्रेक पर बच्चों को खड़ा कर बिगुल के साथ जब दौड़ शुरू हुई तो जीत से ज्यादा खुशी इसमें शामिल होने की बच्चों के चेहरे पर नजर आई। सब जूनियर, सीनियर बालक-बालिका वर्ग में यह प्रतियोगिता हुई। इसके साथ ही व्हील चेयर रेस का आयोजन भी किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local