महेश्वर (खरगोन)। एक पखवाड़े पूर्व जैन मंदिर से अष्टधातु की मूर्तियां व छत्र चुराने वाले छह में से चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दो आरोपियों की अभी भी तलाश जारी है। बुधवार रात को गिरफ्तार किए गए चोरों ने कड़ी पूछताछ में अपना जुर्म कबूल लिया, परंतु अभी तक चोरी गई मूर्तियां व छत्र बरामद नहीं हुए है। पुलिस ने गुरुवार को आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से माल की बरामदगी के लिए रिमांड की मांग की गई।

उल्लेखनीय है कि 30 अप्रैल 15 की रात महावीर मार्ग स्थित मंदिर में चोरी की वारदात हुई थी। समाज अध्यक्ष राजेंद्र जैन के अनुसार मंदिर से चार अष्टधातु की प्रतिमाएं, सात अष्टधातु के छत्र व एक छत्र चांदी का चोरी हुआ था। मूर्तियां जहां करीब 500 वर्ष पुरानी थी, वहीं इनकी कीमत लाखों में है।

सीसीटीवी फुटेज से हुई शिनाख्त

थाना प्रभारी राबर्ट गिरवाल ने बताया कि 30 अप्रैल की रात 2 से 3 बजे के मध्य हुई चोरी की सूचना एक मई की सुबह मिलने पर प्रकरण दर्ज कर चोरों की तलाश शुरू की गई। मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में चोरों द्वारा मंदिर का ताला तोड़कर घटना को अंजाम देना पाया गया। फुटेज देखने के बाद चोरों की सरगर्मी से तलाश शुरू की गई।

थाना खजराना (इंदौर) द्वारा फुटेज में दिखाई दे रहे व्यक्तियों में से एक आरोपी की शिनाख्त बाकर उर्फ इकबाल (45) निवासी हिना कॉलोनी खजराना (इंदौर) के रूप में की गई। उसके ठिकाने पर मुखबिरी कर उसे गिरफ्तार किया गया। इसके बाद उससे पूछताछ के दौरान उसने अन्य 5 आरोपियों के बारे में जानकारी दी। इनके ठिकाने पर दबीश देने पर अन्य 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।

इंदौर के है सभी आरोपी

श्री गिरवाल ने बताया कि पुलिस ने अभी 4 आरोपी बाकर उर्फ इकबाल पिता जाफर (45), हीन कॉलोनी इंदौर, पियूष प्रकाश जैन (29) निवासी सुदामा नगर इंदौर, सतीश महादेव मराठा (30) लाडका नगर इंदौर व सन्‍नी केशरसिंह (26) निवासी बलाई मोहल्ला इंदौर को गिरफ्तार किया है। वहीं 2 आरोपी नन्‍नू व अमोल निवासी इंदौर अभी फरार है। सभी आरोपी शातिर बदमाश है और इनका आपराधिक रिकॉर्ड है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close