शामगढ़(नईदुनिया न्यूज)। कोरोना संक्रमण के चलते डेढ़ दो साल से बंद रतलाम-मथुरा लोकल सवारी गाड़ी कोटा एवं रतलाम मंडल में समन्वय नहीं होने से चल नहीं पा रही हैं। मथुरा-रतलाम लोकल सवारी गाड़ी पश्चिम रेलवे के रतलाम रेल मंडल की ट्रेन है। लेकिन सबसे ज्यादा दूरी पश्चिम मध्य रेलवे के कोटा रेल मंडल में तय करती है। पश्चिम रेलवे का मुख्यासलय मुंबई जोन से जुड़ा है। पश्चिम मध्य रेलवे का मुख्यातलय जबलपुर में हैं। कोटा डीआरएम पंकज शर्मा ने हाल ही में शामगढ़ में बताया था कि हमने मथुरा-रतलाम लोकल के लिए प्रस्ताव जबलपुर भेज दिया है। मगर इसे हरी झंडी पश्चिम रेलवे के मुख्यातलय मुंबई से मिलना है। जो अभी तक नहीं मिली है। जबकि रतलाम रेल मंडल की अधिकांश ट्रेन चल चुकी है। सिर्फ रतलाम-मथुरा लोकल सवारी गाड़ी ही चलना बाकी है। लोकल गाड़ी चलने से सामान्य दर्जे के यात्रियों को राहत मिलेगी। यह ट्रेन जनता से जुड़ी हुई ट्रेन है। रतलाम से मथुरा तक सभी छोटे स्टेशनों पर ठहराव है। कोटा रेल मंडल मथुरा से नागदा तक के सेक्शीन में करीबन 544 किमी में फैला हुआ है। रतलाम-मथुरा ट्रेन अपनी अधिकतर दूरी नागदा से मथुरा तक कोटा रेलमंडल में ही पूरी करती है।

शामगढ़ से खजूरी पंथ मार्ग हुआ जर्जर, वाहन चालक हो रहे परेशान

शामगढ़ (नईदुनिया न्यूहज)। शामगढ़ से खजूरी पंथ तक का 10 किमी सड़क मार्ग काफी जर्जर हो गया है। 2005 मे प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनी सड़क को बने 16 वर्ष होने को आए है। मगर एक दो बार गड्डों की रिपेरिंग के अलावा कुछ नहीं हुआ। हालात यह है कि सड़क की बजाय अब खड्डे ज्यादा दिख रहे हैं। शामगढ़ से शुरू हुए सड़क मार्ग में ही बड़े-बड़े गड्ढे हो रहे हैं। चांदखेड़ी-ढाबला गुर्जर के बीच में कई जगह सड़क इतनी जर्जर हो गई है कि बाइक सवारों को भी परेशानी हो रही हैं। ढाबला गुर्जर नई आबादी से खजूरी पंथ के पांच किमी हिस्से में सड़क लगभग गायब ही हो गई है। खजूरी पंथ के वरिष्ठ नागरिक भारतलाल धाकड़ ने बताया कि हमारी शामगढ़ में खाद-बीज की दुकान है। गांव से प्रतिदिन शामगढ़ न आने-जाने में परेशानी हो रही है। सड़क मार्ग इतना बदतर हो गया है कि चार पहिया तो ठीक बाइक चलाना ही ढेड़ी खीर है। विधायक देवीलाल धाकड़ को भी इसके बारे में बताया था पर कोई हल नहीं हुआ है। खजूरी पंथ के राहुल राठौर ने कहा कि शामगढ़ से ढाबला गुर्जर, खजूरी पंथ होकर बोलिया जाने के लिए प्रतिदिन बड़ी संख्या में यात्री बसे व अन्य वाहन चलते हैं। सड़क मार्ग इतना जर्जर हो गया है कि घंटो समय लग रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local