सैकड़ों नागरिकों के साथ अधिकारियों व कर्मचारियों ने मशाल को दी सलामी, दिनभर बजे देशभक्ति के तराने

महू (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ऐसा पहली बार हुआ जब रेलवे स्टेशन में रेल यात्री कृपया ध्यान दें की बजाए देशभक्ति के तराने तथा भारत माता की जय के घोष सुनाई दिए। मौका था स्वर्णिम विजयी वर्ष के तहत आई मशाल के स्वागत का। यहां रेलवे के अधिकारियों ने पुष्प चक्र चढ़ा कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी, जबकि सेना के बैंड ने धुन की प्रस्तुति व रेलवे पुलिस बल ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

पाकिस्तान पर भारत की विजयी के पचास वर्ष पूरे होने पर आई स्वर्णिम विजयी वर्ष मशाल बुधवार महू रेलवे स्टेशन पर आम नागरिकों के लिए रखी गई। सेना द्वारा यह मशाल सुबह दस बजे रेलवे स्टेशन के बाहर परिसर में पूरे सम्मान के साथ रखी गई। इस विजयी मशाल का आम नागरिकों के साथ रेलवे के अधिकारियों व कर्मचारियों ने स्वागत किया। यहां आने वाले यात्रियों को तिरंगे ध्वज वितरित किए गए और इस दौरान पूरा माहौल देशभक्ति मय हो गया। पौने ग्यारह बजे रेलवे के क्षेत्रीय अधिकारी वीरेंद्र मकवाना ने मशाल के सामने पुष्प चक्र चढ़ा कर शहीदों को श्रृद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान रेलवे के बैंड ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। जबकि सेना के बैंड ने देश भक्ति गीतों की शानदार प्रस्तुतियां दी। इसके अलावा बुधवार को हेरिटेज ट्रेन को विशेष रूप से सजाया गया। हर कोच पर तिरंगे गुब्बारें लगाए गए जबकि इंजन को विशेष रूप से सजाया गया। रेलवे स्टेशन पर आम दिनों में आवाज गूंजती थी कि यात्री ध्यान दें कि बजाए देश भक्ति गीत बजाए गए। हेरिटेज ट्रेन में बैठे यात्री हाथों में तिरंगा लिए थे। पूरा परिसर भारत माता की जय के घोष से गूंज उठा। 11ः05 बजे रेलवे के क्षेत्रीय अधिकारी वीरेंद्र मकवाना व सेना के अधिकारियों ने हरी झंडी दिखाकर हेरिटेज ट्रेन को रवाना किया। इस दौरान यात्रियों के अलावा नागरिक भी मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local