नरसिंहपुर। इटारसी से जबलपुर जाने वाली सोमनाथ एक्सप्रेस के एसी वन कोच की छत से जुनैटा-सालीचौका रेलवे स्टेशन के बीच अचानक धुआं निकलने से कोच में सवार यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। वहीं कोच में सवार यात्री दूसरे कोच में पहुंचे और जुनैटा में ही ट्रेन अचानक रूक गई जो करीब 10 मिनट खड़ी रही और इसके बाद ट्रेन चालक ने सालीचौका रेलवे स्टेशन पर आकर ट्रेन को खड़ा कर दिया। कोच से धुआं उठने की जानकारी जब अन्य यात्रियों को लगी तो वह भी कोच से बाहर निकल आए वहीं रेलवे के अधिकारियों ने दमकल बुलाई। डीआरडीए के कर्मचारी भी पहुंचे और धुआं निकलने की वजह को पता किया। पूरी कार्रवाई के दौरान ट्रेन करीब एक घंटे तक यहां खड़ी रही जो दोपहर करीब एक बजकर 15 मिनट पर जबलपुर के लिए रवाना हुई।

बताया जाता है कि इटारसी से जबलपुर जा रही सोमनाथ एक्सप्रेस के एसी कोच में मात्र 2 यात्री सवार थे जो सो रहे थे। यात्रियों को जब महसूस हुआ कि कुछ जलने की बू आ रही है, तो वह घबराए और अपना कोच बदलने के साथ ही जुनैटा के पास चैन पुलिंग कर गाड़ी को रोक दिया। जिसके बाद ट्रेन में मौजूद रेलवे के कर्मचारियों ने ट्रेन रोके जाने की वजह पता करवाई और ट्रेन को आगे बढ़ाते हुए सालीचौका रेलवे स्टेशन पर लाकर खड़ा कर दिया। गाडरवारा रेलवे स्टेशन के अधीक्षक हनुमान सिंह ने बताया कि करीब पौने 11 बजे के आसपास सोमनाथ एक्सप्रेस जुनैटा और सालीचौका स्टेशन के बीच खड़ी हुई थी। ट्रेन को चैन पुलिंग कर रोका गया था या चालक ने रोकी थी यह अभी स्पष्ट नहीं है। लेकिन सालीचौका रेलवे स्टेशन पर करीब एक घंटे तक ट्रेन खड़ी रही। उसके एसी कोच के छत से धुआं निकल रहा था जिसकी वजह शार्ट सर्किंट मानी जा रही है।

सुरक्षा के लिहाज से दमकल भी बुला ली गई थी और सभी कर्मचारी पहुंच गए थे। कोच से धुआं निकलना बंद होने के बाद ट्रेन को दोपहर करीब एक बजकर 15 मिनट पर रवाना कर दिया गया था। वहीं सालीचौका स्टेशन प्रभारी डोंगरे ने बताया कि जुनैटा में यही देखने के लिए ट्रेन रूकी थी कि धुआं निकलने से कहीं आग फैलने की स्थिति तो नहीं है। जब कर्मचारियों ने जांच कर ली तो उसे सालीचौका स्टेशन तक लाया गया था। घटना से कोच को कोई नुकसान नहीं हुआ है, डीआरडी के कर्मचारी भी जांच करने आए थे और उन्होंने जांच कर ली है। जिसके बाद ही ट्रेन को आगे रवाना किया गया।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close