राकेश शर्मा. पन्ना। कृष्ण भक्तों के लिये बुन्देलखण्ड क्षेत्र के पन्ना में स्थित श्री जुगुल किशोरजी का मंदिर वृन्दावन से कम नहीं है। यह अनूठा मंदिर श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है। मंदिर में विराजे राधा कृष्ण की जोड़ी के अलौकिक दर्शनों के लिये प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं, कहा जाता है कि सदियों पुराने इस भव्य मंदिर में जब भगवान श्री कृष्ण की अलौकिक प्रतिमा प्रतिष्ठित कराई गई थी उस समय श्री कृष्ण की मुरलिया में बेशकीमती हीरे जड़े गये थे। इसको लेकर बुन्देलखण्ड क्षेत्र में यह भजन हर किसी की जुबान में रहता है कि "पन्ना के जुगुल किशोर मुरलिया में हीरा जड़े हैं"। पन्ना के इस प्राचीन और जन आस्था के केन्द्र जुगुल किशोरजी मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े ही धूमधाम और अनूठे अंदाज में मनाया जाता है। इस वर्ष भी जन्माष्टमी पर्व मनाने के लिये जोर शोर के साथ तैयारियां चल रही हैं।

15 दिन पूर्व से चल रही हैं जन्म उत्सव की तैयारियां

जन्माष्टमी पर्व को देखते हुये श्री जुगुल किशोर मंदिर को जहां आकर्षक ढंग से सजाया गया है वहीं मंदिर परिसर के चारों ओर साफ-सफाई, पुताई कर मंदिर को स्वच्छ व सुन्दर बनाया गया है। रात्रि के समय मंदिर की सुन्दरता में चार चांद लगाने के लियें विद्युत लडिय़ां भी लगाई गई हैं। मंदिर में 19 अगस्त को रात्रि 12 बजे भगवान कृष्ण जी का जन्म बड़े धूमधाम तरीके से मनाया जायेगा। इस जन्मोत्सव को लेकर मंदिर समिति एवं जिला प्रशासन की ओर से व्यवस्थायें की गई हैं। वहीं पुलिस बल भी सुरक्षा की दृष्टि से बड़ी संख्या में मौजूद रहेगा। जन्माष्टमी की एक-दूसरे को बधाई देकर अपनी आस्था और उत्साह का इजहार कर रहे हैं। बताया जाता है कि जुगुल किशोरजी मंदिर का निर्माण तत्कालीन पन्ना नरेश हिन्दूपत द्वारा कराया गया था। समूचे बुन्देलखण्ड में यह मंदिर कृष्ण भक्तों की आस्था का केन्द्र है। इसे बुन्देलखण्ड के वृन्दावन की संज्ञा दी जाती है।

प्रशासनिक स्तर पर सौंपी गई जिम्मेदारियां :

श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व को मनाए जाने के संबंध में श्री बल्देव मंदिर प्रांगण में अपर कलेक्टर जेपी धुर्वे की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि नगर मुख्यालय स्थित अन्य मंदिरों में भी जन्माष्टमी का त्योहार भव्यता के साथ आयोजित किए जाएं। त्योहारों के दौरान आवश्यकतानुसार पुलिस बल पुरुष व महिला तैनात करने की जिम्मेदारी पुलिस अधीक्षक पन्ना को सौंपी गई है। जिससे मंदिरों में शांतिपूर्ण ढंग से त्योहारों का आयोजन किया जा सके। कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी अनुविभागीय मजिस्ट्रेट पन्ना को सौंपी गई है। मंदिरों की साफ-सफाई, स्वच्छ पेयजल, प्रकाश व्यवस्था की जिम्मेदारी मुख्य नगरपालिका अधिकारी पन्ना को होगी। त्योहारों के दौरान नियमित रूप से विद्युत प्रदाय व जनरेटर की व्यवस्था की जिम्मेदारी कार्यपालन यंत्री विद्युत मंडल की होगी। त्योहार के दौरान मन्दिर परिसर में चिकित्सक दल दवाओं सहित एंबुलेंस के साथ नियुक्त करने की जिम्मेदारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सौंपी गई है। त्योहारों के दौरान मंदिन जाने वाले मार्गो पर यातायात नियंत्रण करने व वाहनों की पार्किंग व्यवस्था व भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने की व्यवस्था के लिए कर्मचारियों की तैनाती थाना प्रभारी यातायात पन्ना द्वारा की जाएगी।

आयोजित होने वाले कार्यक्रमों का विवरण

बैठक में बताया गया कि श्री जुगल किशोर जी मन्दिर में 19 अगस्त को रात्रि 12 बजे श्री कृष्ण उत्सव मनाया जायेगा। वहीं मन्दिर प्रांगण में 20 अगस्त को 3.30 बजे से 6.30 बजे तक दधिकांदो एवं भजन कीर्तन का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। 20 अगस्त को ही भगवान श्री कृष्ण जी की शयन आरती के बाद रात्रि 10.30 बजे से भण्डारे का आयोजन किया जायेगा। छठी का कार्यक्रम 24 अगस्त को शाम 7 बजे आयोजित होगा।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close