राजगढ़। कोरोना के कारण स्कूल बंद है। 31 जनवरी के पहले हम एक बार फिर से समीक्षा करेंगे। अगर कोरोना के केस कम हुए तो फिर से स्कूल खोलने को लेकर हम विचार करेंगे ओर पढ़ाई चालू हो इसकी व्यवस्था हम करेंगे। बच्चों के स्वास्थ्य व सुरक्षा को देखते हुए हम फैसला लेंगे। पीपल्या कला गांव में हाई स्कूल के साथ हायर सेकेंडरी की बिल्डिंग भी यहां पर निश्चित तौर पर बनवा दी जाएगी। सामुदायिक भवन की भी मांग आई है। वह भी बनवा दिया जाएगा, स्थान तय कर लें। यह बात मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पीपल्या कला गांव में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कही।

मुख्यमंत्री ने उपस्थित लोगों से पूछा कि क्या यहां आवास प्लस का सर्वे हो गया। इसके बाद आगे कहा कि आवास प्लस के तहत जो गरीब हैं व प्रधानमंत्री आवास योजना में 2011 के तहत जो गरीब हैं उनमें से 98 हजार लोगों लाभ मिल गया है। 1 लाख लोग बचे हैं उनको भी आवास योजना देने का काम करेंगे। आगे कहा कि जिस छोटे घर मे एक से अधिक परिवार रह रहे हैं उनके लिए मुख्यमंत्री भू-आवासीय अधिकार योजना चालू की है। जिनके पास रहने की जमीन नही है। ऐसे परिवारों को रहने की जमीन का पट्टा देकर उनको जमीन का मालिक बनाया जाएगा।

पीपल्याकला में 2200 के आयुष्मान कार्ड बने हैं, जो रह गए उनके भी बन जाएं

सीएम ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ग्रामीणों से पूछा कि यहब पर आयुष्मान कार्ड बने की नही। ऐसे में कुछ ने हाथ हिलाकर हां का संकेत दिया तो कुछ ने न का। इसके बाद सीएम ने कहा कि कुछ कह रहे कि बने हैं, कुछ कह रहे नही बनें। मैं यह निर्देश दे रहा हूं कि कोविड के समय मे रोजगार सहायकों को यह अधिकार है कि जिनके कार्ड नही बने, जो लोग रह गए हैं उनको कार्ड बनाकर दिए जाएंगे। क्योंकि रोटी, कपड़ा, मकान, दवाएं, पढ़ाई यह सरकार की प्राथमिकता में शामिल है।

जो छूट गए उनके नाम सम्माननिधि मे जोड़ लें

प्रधानमंत्री किसान सम्माननिधि के तहत तीन किश्तों में 6 हजार रुपये किसानों के खातों में डाले जाते हैं। साथ ही मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के 4 हजार रुपये दिए जाते हैं। प्रदेश में 78 लाख किसानों के खातों में यह राशि दी जा रही है। अगर कोई नाम छूट गए हों तो मैं फिर कह रहा हूँ कि यहां कमिशन भी है व कलेक्टर भी हैं, नाम जोड़ लिए जाएं।

अच्छा काम कर रही आजिविका मिशन की बहनें

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आजीविका मिशन के तहत संचालित स्वसहायता समूहों के कार्यों की सीएम ने सराहना की। उन्होंने कहा कि आजीविका मिशन की बहने अच्छा सामान बनाती है। जो फिनाइल आदि बनाई है वह मैंने देखी है। आजीविका मिशन को बैंकों से जोड़ा जाए। फिनाइल से लेकर अलग अलग काम कर रही है। काम और बढ़ाएं ताकि ओर काम मिल सके व उनकी आमदनी बढ़ सके।

फरवरी में मिलेगी फसल बीमा की राशि

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि फसल बीमा योजना के पिछले साल के पैसों को लेकर कंपनी के साथ सेटलमेंट दो-चार दिन में होने वाला है। पिछले साल की फसल बीमा योजना का पैसा अगले महीने की शुरुआत में ही किसान भाई-बहनों को दे दिया जाएगा। आगे कहा कि अभी जो नुकसान हुआ था उसका सर्वे कराय है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local