Train Status: ठंड बढ़ने के साथ ही जिले व प्रदेश में कोहरे से रेल यातायात भी प्रभावित होने लगा है। कोहरे के कारण आधा दर्जन से ज्यादा ट्रेनें दो से तीन घंटे तक देरी से सागर पहुंच रही हैं, जिससे यात्रियों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। ठंड के मौसम में दिल्ली और मुंबई की ओर कोहरा सबसे ज्यादा नजर आता है, जिससे यहां से आने वाली ट्रेनें काफी प्रभावित होती हैं। पिछले पांच दिनों से दिल्ली की ओर से आने वाली ट्रेनें ही सबसे ज्यादा देरी से सागर पहुंच रही हैं। दिल्ली से आने वाली ट्रेनें निजामुद्दीन-जबलपुर सुपर फास्ट, कामायनी एक्सप्रेस, गोरखपुर अहमदाबाद, साप्ताहिक ट्रेन मप्र, छग संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, उत्कल एक्सप्रेस सहित अन्य रूट से आने वाली ट्रेनें लगातार लेट चल रही हैं। इन ट्रेनों को निकालने के चक्कर में इस रूट से गुजरने वाली दूसरी ट्रेनों को भी रास्ते में रोका जा रहा है, जिससे दूसरी ट्रेनें भी थोड़ी प्रभावित हो रही हैं।

यात्री हो रहे हैं परेशान

उत्कल ट्रेन से सफर करने वाले यात्री शिवम प्रसाद केशरवानी का कहना है कि मेरी बहन के विवाह के कुछ कार्यक्रम बुधवार को सुबह से होना थे, लेकिन यह ट्रेन दोपहर 2 बजे तक बिलासपुर पहुंचेगी, जिससे आयोजन को लेकर जल्दबाजी करना होगी।वहीं यात्री सुरेश कुमार का कहना है कि मुझे अर्जेंट काम से कटनी जाना था सोचा उत्कल एक्सप्रेस दूसरी पैसेंजर ट्रेन से जल्द पहुंचा देगी और रात्रि में नींद भी हो जाएगी, लेकिन यह ट्रेन रात दो बजे सागर आ रही है जिससे अब ठंड में परेशानी हो रही है।

दो से तीन घंटे लेट

जानकारी के अनुसार घने कोहरे से दिल्ली से आने वाली ट्रेनें तय समय से दो से तीन घंटे तक लेट चल रही हैं। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर यात्री ठिठुरती ठंड में ट्रेन आने का इंतजार करते नजर रहे। रात 11 बजे सागर पहुंचने वाली ट्रेनें डेढ़ से दो बजे सागर पहुंच रही हैं, जिससे लोगों की नींद भी पूरी न होने से उनके स्वास्थ्य पर इसका असर दिख रहा है। मंगलवार को रात 22ः50 बजे सागर पहुंचने वाली ट्रेन उत्कल एक्सप्रेस रात 2ः20 बजे सागर पहुंची। रेलवे के एप में यह ट्रेन आगासौद से मालखेड़ी तक आने में आधे घंटे से ज्यादा समय लग गया।इसके अलावा रात 12, एक से तीन बजे सागर पहुंचने वाली दूसरी ट्रेनें भी सुबह पांच से छह बजे सागर आ रही हैं।

कोहरे के कारण दूर से नहीं दिखते सिग्नल

लोको पायलटों के अनुसार रात 12 बजे के बाद कुछ शहरों में ज्यादा घना कोहरा होने लगा है, जिससे रेलवे सिग्नल ठीक तरह से नजर नहीं आते हैं। कोहरे के कारण देर रात स्थिति यह बनती है कि आधा से एक किलो मीटर की दूरी से सिग्नल ठीक नजर नहीं आते हैं, जिस कारण ट्रेन की स्पीड स्लो करना पड़ती है। सुपर फास्ट और एक्सप्रेस ट्रेनों की स्पीड सामान्य तौर पर 110 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे रहती है, लेकिन कोहरे की वजह से इनकी गति 20 से 25 किलोमीटर कम करके चलना पड़ती है। इसके अलावा बसों की गति भी थोड़ी प्रभावित होने लगी है। इंदौर, नागपुर और ग्वालियर से आने वाली बसें घने कोहरे के कारण रास्ते में कई जगह धीमी गति से चलाना पड़ रही है। कुछ वाहन चालकों का कहना है कि ठंड व कोहरे की वजह से कुछ जगह 50 मीटर आगे का नजारा भी साफ नजर नहीं आता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close