सतना, नईदुनिया प्रतिनिधि। सतना जिले के रैगांव विधानसभा उप चुनाव का चुनाव प्रचार बुधवार शाम ही थम चुका लेकिन अब क्षेत्र में राजनीति गरमा गई है। एक ओर कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी ने धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिए हैं वहीं अंदर ही अंदर कांग्रेस और भाजपा के नेताओं में वर्चस्व बनाने तेजी से जुगत होने लगी है। वहीं अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है। कुछ ऐसा ही रैगांव विधानसभा क्षेत्र के सितपुरा में देखने मिला जहां एक घर में कांग्रेस प्रत्याशी कल्पना वर्मा और सतना सांसद गणेश सिंह का आमना-सामना हो गया। इस दौरान दोनों के बीच जमकर बहस हुई और कल्पना ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए सांसद से अपने क्षेत्र में जाने कहा। इस मामले का वीडियो गुरुवार को जमकर वायरल हुआ। वहीं सतना सांसद भी नजाकत को भांपते हुए मौके से चले गए। जिसके बाद कांग्रेस ने इस पूरे मामले की शिकायत निर्वाचन अधिकारी से कर दी। जांच के बाद गुरुवार शाम नागौद थाने में सांसद गणेश सिंह के खिलाफ लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 126, धारा 188 आईपीसी के तहत प्रकरण क्रमांक-727,21 दर्ज किया गया है।

कार्यकर्ताओं ने वाहन से किया पीछा : सतना सांसद गणेश सिंह सितपुरा से जब निकल रहे थे तो कांग्रेस कार्यकर्ता भी उनका पीछा करते हुए दिखाई दिए इसका वीडियो भी जमकर वायरल किया जा रहा है। वहीं शाम को जिला कांग्रेस कमेटी ने सतना में पत्रकारवार्ता कर भाजपा और सांसद पर आचार संहिता उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए बताया कि इसकी लिखित शिकायत निर्वाचन अधिकारी व पर्यवेक्षक को सौंपी गई है। वहीं मामले की जानकारी और शिकायत के बाद निर्वाचन आयोग द्वारा गठित की गई एफएसटी दल द्वारा मामले की जांच की गई और फिर नागौद थाने में आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया।

निर्वाचन आयोग स्वतंत्र : वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी का कहना है कि यह कांग्रेस की बौखलाहट है जिसके बाद वे अनाप-शनाप आरोप लगा रहे हैं। शिकायत का निर्वाचन अधिकारी जांच कर रहे हैं। निर्वाचन आयोग कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है।

कांग्रेस ने कहा हो कार्रवाई : वहीं कांग्रेस प्रत्याशी कल्पना वर्मा सहित प्रवक्ता अतुल सिंह परिहार ने कहा कि पर्यवेक्षक से इसकी लिखित शिकायत की गई। जब क्षेत्र में चुनाव प्रचार थम गया है और बाहरी नेता का यहां आना मना है तो ऐसे में सांसद गणेश सिंह क्षेत्र में क्या कर रहे हैं। इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local