सतना। जिले के रामपुर बाघेलान थाना अंतर्गत इलाहाबाद बैंक बेला में बीती रात चोरी की नियत से घुसे एक चोर ने पकड़े जाने के डर से फांसी के फंदे पर झूलकर खुदकुशी कर ली। शनिवार की सुबह एडिशनल एसपी रामेश्वर यादव की मौजूदगी में शव को नीचे उतरवाकर पीएम के लिये भेजा गया।

मृतक युवक की पहचान धर्मेन्द्र पटेल पिता बृजभान (35) निवासी ग्राम बेला के रूप में की गई है। वहीं बैंक प्रबंधन ने बताया कि मृतक ने चोरी का प्रयास किया था लेकिन वहां कुछ न होने की वजह से वो असफल रहा। वहीं पुलिस बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद से घटना की तह तक पहुंचने में लगी हुई है। मृतक धर्मेन्द्र पटेल को पहले भी चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है।

ये है पूरी घटना

एक सिल्वर रंग की बोलेरो में सवार होकर बदमाशों का गिरोह रात 2 बजे बेला गांव में स्थित इलाहाबाद बैंक पहुंचा। जहां एक बदमाश ने इलेक्ट्र्रानिक कटर से बैंक के पीछे लगे शटर का ताला काटा और भीतर घुस गया। इस दौरान उसके बाकी के साथी बैंक के बाहर बोलेरो में ही सवार थे। आधी रात को खटपिट की आवाज सुनकर बैंक परिसर की पहली मंजिल में रहने वाले किरायेदार की नींद खुल गई और उसने बैंक लुटने की आंशका पर आसपास रहने वाले ग्रामीणों को बुला लिया।

गांव वालों को देखते ही बोलेरो सवार बदमाश भाग गए जबकि ग्रामीणों ने बैंक का शटर बंद कर भीतर घुसे चोर को बंधक बना लिया और वारदात की सूचना बेला चौकी पुलिस को दे दी। बैंक में चोरी की सूचना मिलते ही रामपुर बाघेलान थाना टीआई अनिमेष ष्विेदी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और चोरो को बाहर निकलने के लिये ललकारने लगे। लेकिन कई घंटे बीतने के बाद भी भीतर से कोई बाहर नहीं निकला। रातभर पुलिस मुस्तैद रही और वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित कर दिया।

अलर्ट हुआ प्रशासन

शनिवार की सुबह जैसे ही प्रशासनिक अमले को यह सूचना मिली कि कुछ बदमाश बैंक के भीतर घुसे हैं और चेतावनी के बाद भी खुद को सरेंडर नहीं कर रहे है तो पूरा प्रशासन अलर्ट हो गया। पुलिस के आला अधिकारियों को लगा कि बदमाश हथियारबंद होंगे तो पुलिस टीम पर भी हमला कर सकते हैं।

लिहाजा एसपी मिथिलेश शुक्ला के निर्देश पर रामपुर बाघेलान के अलावा ताला , मैहर, अमरपाटन व सतना से पुलिस टीम मौके के लिये रवाना हुई। एडिशनल एसपी रामेश्वर यादव, डीएसपी गजेन्द्र सिंह समेत फॉरेंसिक टीम बैंक के बाहर पहुंच गई। लेकिन बदमाशों की ओर से कोई प्रतिक्रया न मिलने पर सावधानी पूर्वक बैंक का शटर खोला गया। जहां भीतर एक आरोपी फांसी के फंदे से झूलता हुआ मिला।

सीसी टीवी कैमरे में हुआ कैद

नायब तहसीलदार रामपुर बाघेलान एवं एडीशनल एसपी रामेश्वर यादव की मौजूदगी में शव को को फंदे से उतरवा कर पंचनामा कराने के बाद पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया। साथ ही बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद से जांच शुरू की गई। जिसमें पाया गया कि मृतक धर्मेन्द्र 2 बजकर 30 मिनट में बैंक के भीतर दाखिल हुआ था। जिसके बाद उसने बैंक में रखी तिजोरी को भी काटने का प्रयास किया। लेकिन इससे पहले ही गांव वालों ने बैंक के बाहर लगे शटर को बंद कर दिया और चारो ओर से घेरकर पुलिस को सूचना दे दी। रात लगभग 3 बजे रामपुर पुलिस मौके पर पहुंच गई थी।

तीन साल पहले पकड़ा गया था धर्मेन्द्र

रामपुर बाघेलान पुलिस ने बताया कि धर्मेन्द्र पटेल चोरी के एक मामले में तीन साल पहले पकड़ा जा चुका है। इसके बाद से उसके खिलाफ चोरी का कोई मामला सामने नहीं आया था। वहीं परिजनों ने पुलिस को बताया कि धर्मेन्द्र बेरोजगार था और आवारागर्दी के अलावा उसका दूसरा कोई काम नहीं था। गांव वालों को देखकर बोलरो सवार जो बदमाश भाग गए हैं उनके बारे में अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है।

इनका कहना है

अभी तक की छानबीन में जो जानकारी सामने आई है उसके अनुसार बैंक में चोरी करने के लिये अकेले धर्मेन्द्र ही घुसा था। उसके साथ दूसरा कोई भी बैंक में नहीं दाखिल हुआ। वहीं बोलरो सवार बदमाशों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। बैंक प्रबंधन के अनुसार किसी प्रकार की चोरी या रिकार्ड गायब नहीं हुए हैं। घटना की जांच डीएसपी द्वारा की जा रही है।

रामेश्वर यादव, एडिशनल एसपी