सीहोर/इछावर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। दशहरे की रात नगर में एक नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म का सनसनीखेज प्रकरण सामने आया है। आरोपित दोनों युवक एक संप्रदाय विशेष से जुड़े हैं, जिन्‍होंने देर रात पीड़िता के घर के बाहर पहुंचकर उसे उसकी मजदूरी के पैसे देने के नाम पर फुसलाया और सुनसान जंगली इलाके में ले जाकर उसके साथ दुष्‍कृत्‍य किया। लड़की के चीखने पर उसके परिजन दौड़कर वहां पहुंचे और मौके पर मौजूद युवक को दबोच लिया, जबकि दूसरा युवक फरार होने में कामयाब रहा। पकड़े गए युवक को परिजन थाने ले आए और उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस ने की हीलाहवाली

पीड़ित लड़की के पास कोई परिचय पत्र ना होने के कारण पुलिस ने मौके पर एफआइआर लिखने से मना कर दिया। इस स्थिति में परिजनों ने विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं से संपर्क किया। इन संगठनों के कुछ कार्यकर्ता नाबालिग पीड़िता और उसके परिजनों के साथ थाने पहुंचे, तब जाकर देर रात पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की। पीड़िता ने बताया कि मैं मजदूरी का काम करती हूं। दशहरे की रात ठेकेदार और उसका एक साथी आधी रात को मेरे घर के बाहर पहुंचे और घर की छत पर पत्‍थर फेंका। पत्थर की आवाज सुन मैं बाहर निकली तो ये दोनों बाहर खड़े दिखाई दिए। उन्होंने मुझसे कहा कि हमारे साथ चलो, तुझे अभी तुम्‍हारी मेहनत के पैसे देंगे। वे दोनों मुझे मेरे घर के पीछे जंगल में ले गए, जहां उन्‍होंने मेरे साथ गंदा काम किया। मामले में एफआइआर दर्ज करने के बाद पुलिस ने दूसरे आरोपित को भी उसके घर से गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close