सिवनी। पेंच नेशनल पार्क अपनी खूबसूरती और दुर्लभ वन्य जीवों के लिए मशहूर है। दक्षिण भारत मेंं पाया जाने वाला दुर्लभ एशियन पाम सिवेट शुक्रवार दोपहर पेेंच पार्क की सड़कों में चहलकदमी करता दिखाई दिया। पेंच पार्क के रूट नंबर 2 पर जोड़ा मुनारा कैंप के नजदीक दुर्लभ एशियन पाम सिवेट की चहलकदमी करती हुई तस्वीरें पार्क के वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर ओमवीर चौधरी ने अपने कैमरे में कैद कर लीं।

आहट सुनते ही जमीन की खोह में दुबक जाता है

नेचुरलिस्ट गाइड व वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर ओमवीर चौधरी ने बताया कि निशाचर प्रवृत्ति के इस स्तनपायी वन्यप्राणी को दिन अथवा दोपहर के समय देख पाना बेहद मुश्किल होता है। एकांतप्रिय यह वन्यप्राणी किसी की आहट सुनते ही जमीन की खोह अथवा अपने आवास में दुबक जाता है। रात के अंधेरे मेंं शिकार के लिए यह मांसाहारी वन्यप्राणी बाहर निकलता है। बड़ी शिकारी बिल्ली की तरह दिखने वाले एशियन पाम सिवेट छोटे जीवों जैसे छिपकली, सांप, मेंढक व कीड़ों का शिकार करता है।

15 से 20 साल होती है उम्र

दक्षिण भारत के अलावा दक्षिण पूर्व एशिया, श्रीलंका, दक्षिणी चीन इत्यादि देशों मंे यह बड़ी संख्या में पाया जाता है। काले बाल व बड़ी आंखों वाले इस वन्यप्राणी की उम्र 15 से 20 साल तक होती है। पेंच टाइगर रिजर्व में एशियन पाम सिवेट रिकार्डेड वन्यप्राणी है। लेकिन कई सालों बाद यह पार्क में लोगों को दिखाई दिया है। ताड़ के पेड़ों की कटाई से एशियन पाम सिवेट की संख्या दुनिया भर में तेजी से कम हुई है। इस वन्यप्राणी को ताड़ के फल काफी पसंद हैं। फलों को यह बहुत चाव से खाता है।