- गरासिया घाट पर हर्बल गार्डन बनकर तैयार, एक्युपे्रशर ट्रेक का भी मिलेगा लाभ

शाजापुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहरवासियों को जल्द ही शहर के चीलर नदी किनारे गरासिया घाट पर हर्बल गार्डन की सौगात मिलने वाली है। यहां एक्युप्रेशर ट्रेक से लेकर सुगंध चिकित्सा, ध्यान चिकित्सा, प्राकृतिक आहार सहित करीब 10 तरह की चिकित्सा का लाभ मिलेगा, संभवतः इसी माह इसे आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।

गायत्री शक्तिपीठ के माध्यम से बन रहे गार्डन में एक्युप्रेशर ट्रेक निर्माण सहित औषधि पौधों की बगिया लग चुकी है। बगिया से विशेष प्रकार की महक वातावरण को सुगंधित कर रही है। जानकारी अनुसार गायत्री शक्तिपीठ ट्रस्ट द्वारा निर्माण कराए जा रहे हर्बल गार्डन में अब तक एक्युप्रेशर टाइल्स लगाई जा चुकी है। इस ट्रेक पर नंगे पैर चलने पर करीब 500 तरह की बीमारियां दूर होने की बात कही जा रही है। गार्डन के चारों ओर यह ट्रेक बनाया गया है।

गृह, नक्षत्र वाटिका

सहायक ट्रस्टी मनोज जायसवाल ने बताया कि ग्रह, नक्षत्र व राशियों के अनुसार पौधे भी लगाए गए हैं। इनसे संबंधित पौधों का रोपण किया गया है। इन्हें लोग यहां आकर देखने भी आने लगे हैं। वहीं यहां लगे औषधिय पौधे यहां घूमने आने वाले लोगों को स्वस्थ्य वातावरण उपलब्ध कराने में सहायक होंगे, क्योंकि इन पौधों के कारण यहां का वातावरण काफी शुद्ध हो रहा है। कतारबद्ध तरीके से लगे इन पौधों का रोपण भी व्यवस्थित तरीकों से किया गया है। कुछ माह पहले लगाए गए यह पौधे अब बड़े हो चुके हैं।

ज्यूस सेंटर का काम गति से

प्रमुख ट्रस्टी हरिश शर्मा ने बताया स्वास्थ्य लाभ के लिए यहां ज्यूस सेंटर का निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण के बाद यहां आने वाले नागरिकों को आंवला, नारियल, करेले, लौकी, ग्वारपाठा, जवारे आदि से बने रस का वितरण किया जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि श्रीराम स्मृति स्वास्थ्य उपवन में ध्यान योग केंद्र, पिरामिड आकार की यज्ञशाला, वनौषधि उद्यान, बाल उद्यान, संस्कार केंद्र सभी तरह की सुविधाएं रहेंगी। उन्होंने बताया गायत्री शक्तिपीठ द्वारा जनहित में देश व प्रदेश में कई जगह इस तरह के हर्बल गार्डन का निर्माण किया गया है। ट्रस्ट का उद्देश्य बीमारियों से लोगों के बचाव व स्वस्थ्य रहने के उददेश्य से किया जा रहा है। शहर में भी ट्रस्ट द्वारा निर्माण कार्य सहयोग से कराया गया है।

इन 10 तरीकों से होगा उपचार

- एक्युप्रेशर चिकित्सा पथ, ऐक्यूप्रेशर चिकित्सा में पैरो के रिफलेक्स पॉइंटों से संपूर्ण शरीर को स्वास्थ्य लाभ कराया जाएगा।

- औषधिय पौधों से सुगंध चिकित्सा, इस चिकित्सा पद्धति द्वारा श्वसन से औषधीय पौधों को आरोग्यवर्धक वायु द्वारा स्वास्थ्य लाभ

- ध्वनि यंत्र, ध्वनि चिकित्सा में सुमधुर स्वर ध्वनियों से मानसिक बीमारियों से लाभ

- ध्यान स्थल, ध्यान चिकित्सा पद्धति द्वारा मानसिक विकारों का निष्कासन

- योग स्थल, योग चिकित्सा में लाइलाज बीमारियों से अतिशीघ्र मुक्ति

- यज्ञ स्थल यज्ञ चिकित्सा पद्धति द्वारा लाइलाज बीमारियों से छुटकारा

- प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति द्वारा संपूर्ण शरीर से गंदगी की सफाई और बिना दवाओं को स्वास्थ्य लाभ दिया जाएगा।

- सात्विक ऊर्जा चिकित्सा में उपवन में आने वालों की सात्विक उर्जा एनर्जी में बढ़ोत्तरी कर आशावादी बनाया जाएगा।

- वाचनालाय विचार चिकित्सा में सशक्त विचारों से आदर्शवादी जीवन का निर्माण किया जाएगा।

- प्राकृतिक आहार केंद्र आहार चिकित्सा पद्धति अंतर्गत प्राकृतिक आहार व रसों द्वारा संपूर्ण शरीर शुद्धि व स्वस्थ्य शरीर निर्माण की पहल की जाएगी।

8एसजेआर17- गरासिया घाट पर बना है एक्युप्रेशर पार्क।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close