शिवपुरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

सिरसौद गांव में बाल विवाह की सूचना मिलने पर परियोजना अधिकारी प्रियंका बुनकर ने सुपरवाइजर नेहा दीक्षित को मौके पर जाकर जांच करने के लिए भेजा। स्थल पर विवाह आयोजन की संपूर्ण तैयारियां थीं, लेकिन स्वजनों ने सुपरवाइजर को गुमराह करने के लिए कहा कि हमारे यहां सगाई समारोह है विवाह नहीं है। लड़की की उम्र 17 साल है इसलिए विवाह तो हम अगले साल करेंगे। स्थल पर मौजूद स्वजनों एवं लड़की के पिता ने लिखित पंचनामा दिया कि अभी विवाह आयोजन नहीं है।

सुपरवाइजर से जानकारी लेने के बाद परियोजना अधिकारी प्रियंका बुनकर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची और परिजनों से सख्ती से पूछताछ की तो स्वजनों ने पूरा सच बता दिया। परिजनों ने कहा मेडम अब हल्दी-मेंहदी लग गई है शादी हो जाने दो। हम लड़की को ससुराल नहीं भेजेंगे। परियोजना अधिकारी प्रियंका ने दो टूक शब्दों में अगर परिवार और रिश्तेदारों के साथ जेल जाना हो तो शौक से करो। 17 साल की लड़की की आज शादी होने का मतलब है कल सभी रिश्तेदारों के साथ जेल जाने की तैयारी। टीम के सख्त लहजे को देखकर स्वजनों ने लिखित आश्वासन दिया कि वे अब किसी भी स्थिति में शादी नहीं करेंगे। कार्यवाही के दौरान पर्यवेक्षक नेहा दीक्षित, पुलिस विभाग से एएसआइ पीएल पांडे, आरक्षक एमके कलावत आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सुभाषमणि वर्मा और सरोज शिवहरे मौजूद रहीं।

एक दिन पूर्व भी रोका बाल विवाह

परियोजना अधिकारी प्रियंका बुनकर ने बताया कि सोमवार को चाइल्ड लाइन नंबर 1098 के माध्यम से टोकनपुरा गांव में बाल विवाह की सूचना मिली। जब मैं सुपरवाइजर नेहा दीक्षित के साथ मौके पर पहुंचकर जांच की तो लड़की की उम्र 16 वर्ष होना प्रमाणित हुई। स्वजनों को बाल विवाह के दुष्प्रभाव और बाल विवाह निषेध कानून के बारे में बताया तो उन्होंने विवाह न करने का लिखित भरोसा दिया। इस दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता संध्या लोधी एवं सहायिका अर्चना परिहार भी मौजूद रहीं।

इनका कहना है...

हर विवाह आयोजन की हम निगरानी कर रहे है। जिन स्वजनों ने बाल विवाह नहीं करने का लिखित शपथपत्र दिया है। यदि वे चोरी छिपे शादी करते है तो कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

- प्रियंका बुनकर, परियोजना अधिकारी, करैरा

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local