उज्जैन, नईदुनिया प्रतिनिधि। कंठाल चौराहे पर रविवार सुबह चार बदमाशों ने एक बॉक्सिंग कोच को चाकू मारकर घायल कर दिया। कोच अपने दोस्तों के साथ महाकाल मंदिर से भस्मारती कर लौट रहे थे। कंठाल चौराहे पर नाश्ता करने के लिए रुके। इसी दौरान दुकान पर चार बदमाश आ गए। चारों ने कोच से 500 रुपए मांगे। नहीं देने पर चाकू से हमला कर दिया। घटनास्थल कोतवाली थाने से महज 100 मीटर दूर ही है। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है।

एएसआई चंद्रभानसिंह ने बताया कि पीयूष पिता जीवनसिंह (23) निवासी देसाई नगर बॉक्सिंग कोच तथा नेशनल खिलाड़ी रह चुका है। रविवार तड़के वह अपने दोस्तों सन्न्ी व शिवम् के साथ महाकाल मंदिर में भस्मारती दर्शन के लिए गया था। सुबह करीब 6 बजे वह दोपहिया वाहन से वापस घर लौट रहे थे।

कंठाल चौराहे पर एक दुकान पर नाश्ता करने रुके। इसी दौरान दुकान पर गोलू ठाकुर निवासी डाबरी पीठा, मोनू राव निवासी महाकाल क्षेत्र, निक्कू और आयुष आए तथा 500 रुपए की मांग करने लगे। पीयूष ने रुपए देने से इंकार कर दिया तो चारों ने उस पर चाकू से हमला कर दिया और भाग निकले। आसपास के लोगों ने पीयूष को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। कोतवाली पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ प्राणघातक हमले का केस दर्ज किया है।

हमले के बाद थाने पहुंचे

बॉक्सिंग कोच पर कोतवाली थाने से महज 100 मीटर दूर कंठाल चौराहे पर हमला हुआ था। बताया जा रहा है कि हमले के बाद कुछ लोग थाने पहुंचे थे। मगर थाने पर मात्र दो-तीन पुलिसकर्मी ही मौजूद थे। बता दें कि क्षेत्र में बदमाशों द्वारा वसूली के मामले पहले भी सामने आए हैं। मगर कोई कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है।