उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। यूनाइटेड इंटरनेशनल ह्यूमन राइट ट्रस्ट (मानव अधिकारी संस्थान) का सदस्य बनाने के नाम हजारों रुपये ठगने वाली महिला को रविवार को कोर्ट में पेश किया गया। यहां से उसे चार दिन केे पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। महिला अब पुलिस को गलत जानकारियां देकर बरगलाने रही है।

एसआइ दिनेश भाट ने बताया कि मधु यादव निवासी एलडीए कालोनी, कानपुर रोड, लखनऊ (उप्र) ने शिकायत की थी कि शिरीन हुसैन पत्नी शेख अमन निवासी आदर्श नगर नागझिरी द्वारा यूनाइटेड इंटरनेशनल ह्यूमन राइट ट्रस्ट (मानव अधिकारी संस्थान) के फर्जी लेटरपैड छपवाकर सदस्य बनाए गए थे। शिरीन ने बुरहानपुर के करीब 30 लोगों से संस्था का सदस्य बनवाने व आइडी कार्ड देने के नाम पर 11-11 हजार रुपये ले लिए और संस्था की अध्यक्ष मधु यादव के फर्जी हस्ताक्षर कर उन्हें कार्ड भी वितरित कर दिए। इसकी जानकारी राष्ट्रीय मानव अधिकार संगठन संस्था की अध्यक्ष मधु यादव को लगी तो उन्होंने उज्जैन पहुंचकर नागझिरी थाने में शिरीन के केस दर्ज करवाया था। पुलिस ने शनिवार को शिरिन को गिरफ्तार कर रविवार को कोर्ट में पेश किया था, जहां से उसे चार दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा गया है।

पीजीडीसीए करवाने वाली संस्था का नाम बताया

शिरीन ने पुलिस को पूछताछ में शिकायतकर्ता मधु यादव की सहयोगी रह चुकी एनआइएस संस्था के बारे में पुलिस को बताया कि वहां फर्जी पीजीडीसीए की डिग्री दी जाती है। इस पर पुलिस ने संस्था के फ्रीगंज स्थित कार्यालय पर दबिश दी थी। हालांकि बताया जा रहा है कि वहां पुलिस को कुछ भी हाथ नहीं लगा है। पुलिस संस्था के कागजात की जांच करवाएगी। पुलिस का कहना है कि आरोपित शिरिन झूठी जानकारियां देकर बरगला रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local