Daughters' Day 2021: भारत में हर वर्ष सितंबर के चौथे रविवार को डॉटर्स डे मनाया जाता है। इस साल देशभर में लोग 26 सितंबर को बेटी दिवस मनाएंगे। एक परिवार में बालिका के महत्व को चिह्नित करने के लिए बेटी दिवस मनाया जाता है। इस दिन माता-पिता अपनी बेटियों को उनके सपनों को साकार करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। लोग अपनी बच्चियों को स्पेशल फील कराने व उनके प्रति अपने प्यार का इजहार करने के लिए गिफ्ट और पार्टी का आयोजन भी करते हैं।

देश में डॉटर्स डे का महत्व इसलिए बढ़ जाता है, क्योंकि कन्या भ्रूण हत्या के केस कम नहीं हो रहे हैं। बालिकाओं को बचाने के लिए भारत सरकार ने भी उनके लिए कई योजनाएं शुरू की है। आइए जानते हैं सरकार द्वारा शुरू की गई कुछ योजनाओं के बारे में।

1. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (Beti Bachao Beti Padhao)

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत 22 जनवरी 2015 को की गई। इस स्कीम का उद्देश्य जागरूकता पैदा करना और लड़कियों के लिए कल्याणकारी सेवाओं की दक्षता में सुधार करना है।

2. सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana)

सुकन्या समृद्धि योजना एक छोटी बचत स्कीम है। जिसकी शुरुआत बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत की गई। जिसके अंतर्गत अभिभावक बेटी के नाम अकाउंट खोल सकते हैं। इस योजना में खाता खुलवाने के लिए बच्ची की उम्र 10 साल से कम होनी चाहिए। यह अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस और सरकारी बैंकों में खोला जा सकता है।

3. बालिका समृद्धि योजना (Balika Samriddhi Yojana)

यह गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली लड़कियों और उनकी माताओं के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई छात्रवृत्ति योजना है। इस स्कीम में सरकार मां को 500 रुपए का नकद लाभ प्रदान करती है। इस योजना में 10वीं कक्षा तक 300 रुपए से एक हजार तक बालिकाओं को वार्षिक छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती है।

4. सीबीएसई छात्रवृत्ति योजना/बालिका शिक्षा के लिए नीति (CBSE Scholarship Scheme/Policy for Girl Education)

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने छात्रवृत्ति योजना शुरू की है। जिसके तहत लड़की को स्कॉलरशिप देता है जो अपने परिवार में एकमात्र संतान हैं। यह योजना उन लड़कियों पर लागू होती है। जिन्होंने किसी स्कूल की कक्षा 11वीं और 12वीं में प्रवेश लिया है।

Posted By: Shailendra Kumar