Alwar Mob Lynching: राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। हाल के दिनों का साप्रदायिक घटनाओं के बाद अब अलवर से मॉब लिंचिंग की खबर आई है। जानकारी के मुताबिक, अलवर जिले में सोमवार को सब्जी विक्रेता 50 वर्षीय व्यक्ति को चोर होने के संदेह में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। मृतक की पहचान चिरंजी लाल सैनी के रूप में हुई है। आरोप है कि एक विशेष समुदाय के लगभग 20-25 लोगों ने पीटा और जयपुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के अलवर जिले के रामबास गांव की है। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर भारी हंगामा हुआ।

Alwar Mob Lynching: जानिए पूरा घटनाक्रम

प्रारंभिक जांच से पता चला है कि विक्रम खान, जुम्मा खान और अन्य लोगों ने चिरंजी लाल की पिटाई की। यह घटनाक्रम उस समय का है जब चिरंजी लाल खेत में गया था। पीड़ित जब खेत में था, तभी सदर थाना क्षेत्र से ट्रैक्टर चोरी कर चोर आ रहे थे और पुलिस अधिकारी व वाहन मालिक उनका पीछा कर रहे थे। पुलिस अधिकारियों और मालिक को देख चोर ट्रैक्टर को खेत में ही छोड़ गए और जब मालिक पहुंचे तो उन्होंने चिरंजी लाल को चोर समझ लिया और उसकी पिटाई शुरू कर दी।

पुलिस जब मौके पर पहुंची तो पता चला कि वह व्यक्ति चिरंजी लाल है और वह खुद को बचाने के लिए खेत में गया था। पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां से उसे इलाज के लिए जयपुर रेफर कर दिया गया, लेकिन चोटों के कारण उसकी मौत हो गई।

घटना से इलाके में तनाव फैल गया और आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने गोविंदगढ़ थाने का घेराव कर आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की। मृतक के बेटे योगेश ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close