कोलकाता। करोड़ों रुपये के सारधा चिटफंड घोटाले में सीबीआई की विशेष अपराध शाखा ने बुधवार को तृणमूल कांग्रेस के एक अन्य राज्यसभा सदस्य सृंजय बोस और विधाननगर नगरपालिका की चेयरपर्सन के पति व तृणमूल नेता समीर चक्रवर्ती से बुधवार को सघन पूछताछ की। सृंजय बोस से करीब आठ घंटे तक पूछताछ की गई। इस दौरान दो दफा गिरफ्तार तृणमूल से निलंबित राज्यसभा सांसद कुणाल घोष को सामने बैठा कर पूछताछ हुई। इस बीच तृणमूल ने सीबीआई व भाजपा पर साजिशन तृणमूल को बदनाम करने का आरोप लगाया है।

सूत्रों के मुताबिक मुख्य रूप से सीबीआई ने सारधा के साथ बोस के अखबार के साथ हुए करार व टीवी चैनल को लेकर रुपये के लेनदेन के मुद्दे पर पूछताछ की। चक्रवर्ती से सारधा के प्रोग्र्राम कराने, सुदीप्त सेन की फरारी के बाद सारधा समूह के टीवी चैनल पर मोटी रकम खर्च कर अभियान चलाने के संबंध में सवाल किए गए। इस दौरान गिरफ्तार पूर्व डीजीपी व तृणमूल नेता रजत मजूमदार को लेकर भी सीबीआई अधिकारी ने पूछताछ की।

इन सभी पूछताछ के दौरान सीबीआई अधिकारियों को पता चला कि सारधा के मुख्यालय मिडलैंड पार्क में एक गुप्त स्थान है जहां कुछ अहम दस्तावेज रखे हुए हैं। इसके बाद सीबीआई अधिकारियों ने वहां करीब चार घंटे तक तलाशी ली और कुछ अहम दस्तावेज जब्त किए। बांग्ला दैनिक के मालिक तृणमूल सांसद सृंजय बोस ने कभी निलंबित तृणमूल राज्यसभा सदस्य कुणाल घोष को संपादक के तौर पर अखबार में नियुक्त किया था। सारधा मामले में अपनी भूमिका के कारण घोष अभी जेल में हैं।

पूर्व डीजीपी न्यायिक हिरासत में

गिरफ्तारी के बाद सीने में दर्द की शिकायत करने के बाद एनआरएस अस्पताल में भर्ती पूर्व आईपीएस अधिकारी मजूमदार की बुधवार को कोर्ट में पेशी नहीं हो सकी। कोर्ट ने रजत मजूमदार के स्वस्थ होने तक न्यायिक हिरासत में जेल में रखने का निर्देश दिया।

सारधा कांड की मुख्य सूत्रधार ममता: कांग्रेस

बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर चौधरी ने कहा है कि सारधा चिटफंड घोटाले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मुख्य सूत्रधार हैं। दार्जिलिंग में सारधा प्रमुख सुदीप्त सेन के साथ बैठक करने से लेकर पैसा लूट करने तक सभी घटनाओं में मुख्यमंत्री का हाथ है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री खुद को सचमुच ईमानदार मानती है तो उन्हें कुणाल घोष और सुदीप्त सेन के साथ आमने-सामने बैठकर सीबीआई जांच का सामना करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने सारधा के अखबार का किया प्रमोशन: गांगुली

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश अशोक गांगुली ने बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर सारधा कांड को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सारधा ग्रुप के अखबार का प्रमोशन किया था। उन्होंने निर्देश जारी किया था कि लोग सारधा समूह का अखबार पढ़े और सरकारी पुस्तकालयों में वही अखबार रखा जाए।

Posted By: