नई दिल्‍ली। भारत में आम जुबान में बोले जाने वाले चार शब्‍दों को ऑक्सफर्ड इंग्लिश डिक्‍शनरी में शामिल किया गया है। ये शब्‍द 'अरे यार', 'चूड़ीदार', 'भेलपुरी' और 'ढाबा' हैं। ये शब्‍द अंग्रेजी में कोई कभी-कभार कहे जाने वाले शब्द नहीं रह गए थे और यही बात सबसे ज्यादा हैरान करती है।

ऑक्सफर्ड इंग्लिश डिक्‍शनरी की सलाहकार संपादक डॉक्टर डानिका सालजर कहती हैं- भाषा को लेकर बड़े पैमाने पर किए गए शोध के बाद पता चला कि ये शब्द अंग्रेजी में भी अक्सर बोले जाते रहे हैं और इनका अपना सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और भाषाई महत्व है।

उन्होंने बताया कि अंग्रेजी में इन शब्दों का इस्तेमाल 1845 से किया जा रहा है। 'चूड़ीदार' का अंग्रेजी में पहले पहल 1880 में इस्तेमाल देखने को मिलता है। हालांकि, इसे अंग्रेजी भाषा में दर्ज होने में 135 साल लग गए।

यह भी पढ़ें : परमाणु नि:शस्‍त्रीकरण पर छोटे द्वीप ने भारत को कोर्ट में खींचा

ऑक्सफर्ड डिक्‍शनरी में चूड़ीदार शब्द का अर्थ बताया गया है - दक्षिण एशिया में पहना जाने वाला ट्राउजर जो बदन से चिपका होता है और पैर के निचले में हिस्से में ऐक्सट्रा कपड़े रहते हैं और घुटने के नीचे यह कई चूड़ीदार सिलवटों के साथ होता है।

ढाबा को एक संज्ञा के रूप में शामिल किया गया है और 'भारत में या भारतीय संदर्भों में सड़क के किनारे भोजन स्टाल या रेस्तरां के रूप में समझाया गया है। वहीं, अरे यार को दोस्त या परिचित का उल्लेख करने के लिए एक संज्ञा के रूप में परिभाषित किया गया है। शोध के अनुसार, अंग्रेजी में 'यार' शब्‍द का उपयोग पहली बार 1963 में देखा गया था।

यह भी पढ़ें : आठ क्रेडिट कार्ड हैं मोदी के पास, कोई उनके नाम नहीं

भेलपूरी शब्द का उपयोग पहली बार 1950 किया गया था। पैंसठ वर्ष बाद भेलपूरी शब्‍द का उल्लेख भारतीय रसोई का करने के लिए एक संज्ञा के रूप में परिभाषित किया गया है। इसमें एक डिश या नाश्ता तैयार करने के लिए आमतौर चावल, प्याज, आलू, मसालेदार और मीठा चटनी से मिलकर बनी एक पूरी के तौर पर किया जाता है।

Posted By: