Bihar Band Jan 28 2022 LIVE: रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी (एनटीपीसी) परीक्षा के परिणाम को लेकर छात्रों ने शुक्रवार को बिहार बंद का ऐलान किया है। सभी मांगें मान लिए जाने के बाद भी छात्र बंद कर रहे हैं और सभी विपक्षी दलों को इनका साथ मिला है। जानकारी के मुताबिक, राजनीतिक दलों ने इस बंद को हाईजैक कर लिया है। छात्र पीछे रहे गए हैं और विपक्षी दल जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं। राजधानी पटना के साथ ही मुगलसायर उन शहरों में शामिल हैं जहां असर पड़ा है। इनमें लालू यादव की पार्टी RJD प्रमुख रूप से शामिल है। रेलवे ने कहा है कि वह सभी ट्रेनों की नियमित आवाजाही करेगा, लेकिन आशंका है कि छात्रों के प्रदर्शन के कारण कुछ ट्रेनें प्रभावित हो सकती हैं और आम यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। यहां जानिए क्या है पूरा मामला

क्या है रेलवे परीक्षा परिणाम केस, क्यों छात्रों ने किया है बिहार बंद

रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी (एनटीपीसी) परीक्षा के परिणाम को लेकर चौथे दिन अभ्यर्थियों का हंगामा थमा, गुरुवार को ट्रेन का परिचालन सामान्य रहा। अभ्यर्थियों ने रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा पूरे मामले की जांच के लिए हाई लेवल कमेटी के गठन का स्वागत किया है। रिजल्ट के विरोध में आइसा, एआइएसएफ, एनएसयूआइ, एनौस, छात्र राजद, एआइडीएसओ सहित एक दर्जन से अधिक छात्र संगठनों ने शुक्रवार को बिहार बंद का आह्वान किया है। बंद के समर्थन में विभिन्न राजनीतिक दल भी आ गए हैं। शुक्रवार को बंद के दौरान राजद, कांग्रेस, भाकपा माले, भाकपा एवं माकपा के कार्यकर्ता सड़कों पर निकलकर सक्रिय भागीदारी निभाएंगे। महागठबंधन ने चेतावनी भी दी है कि अगर बंद के दौरान कोई घटना-दुर्घटना हुई तो उसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। हिदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम)ने छात्रों के बंद को नैतिक समर्थन दिया है। वहीं विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) ने भी बंद का समर्थन करेगी।

वहीं, छात्रों को उग्र आंदोलन के लिए भड़काने के आरोप में खान सर, एसके झा सर, नवीन सर, अमरनाथ सर, गगन प्रताप सर और गोपाल वर्मा सर पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। सभी कोचिंग क्लासेज चलाते हैं। एफआइआर में पुलिस ने नाम दिए बगैर बाजार समिति में संचालित कई कोचिंग संचालकों को भी प्राथमिकी में अभियुक्त बनाया है। पटना के जिलाधिकारी डा. चंद्रशेखर सिंह व एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने गुरुवार को राजधानी के कोचिंग संचालकों के साथ बैठक की। डीएम ने कहा कि किसी निर्दोष शिक्षक को डरने की जरूरत नहीं है। निर्भय होकर शिक्षक अपना पक्ष रखें। कानून को हाथ में लेने, जनजीवन को प्रभावित करने, कानून व्यवस्था बिगाड़ने में संस्था, भीड़ या अन्य कोई भी होंगे तो उनके ऊपर कानून सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

गया में छह बोगियां राख : तीसरे दिन बुधवार को सबसे ज्यादा प्रभावित पटना-गया रेल लाइन रहा। गया, जहानाबाद व मसौढ़ी स्टेशन पर 10 घंटे तक छात्र जमे रहे। सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से प्रभावित रहा। गया स्टेशन पर कुछ लोगों ने पैसेंजर ट्रेन की बोगियों में आग लगा दी। इसमें छह बोगी जलकर रख हो गई। दो इंजनों को भी नुकसान पहुंचा है। जहानाबाद स्टेशन पर अभ्यर्थियों ने ट्रेन के आगे ट्रैक पर ही तिरंगा फहराकर राष्ट्रगान गया। इसमें रेलवे कर्मी, आरपीएफ, जीआरपी के साथ-साथ जिला पुलिस के जवान भी शामिल हुए। रेल ट्रैक जाम होने के कारण आठ पैसेंजर ट्रेन, कोशी एक्सप्रेस आदि को रद कर दिया गया। पटना-रांची जनशताब्दी समेत कई ट्रेनों को बदले रूट पर चलाया गया। सोमवार को राजेंद्र नगर टर्मिनल और आरा जंक्शन से अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन प्रारंभ किया, दूसरे दिन मंगलवार को बिहारशरीफ, नवादा, बक्सर आदि स्टेशनों पर भी प्रदर्शन कर ट्रेनों का परिचालन प्रभावित किया गया था।

फोटो: देखिए पटना में प्रदर्शन की तस्वीरें

Image

Image

Image

Image

Image

Image

Image

Koo App

Our party supports the Bihar bandh on 28th of Jan 2022. This fascist regime has crossed all the limits of atrocities on its own citizens. #PoliceBrutality #Railway_Stop_Harassing_Student

View attached media content

- AIMIM Bihar (@aimimpartybihar) 28 Jan 2022

Koo App

बिहार बंद

View attached media content

- Rajesh Ranjan@Pappu Yadav (@pappuyadavjapl) 27 Jan 2022

Koo App

रेल मंत्रालय छात्रों की मांग के प्रति काफी संवेदनशील है। रेलवे बोर्ड स्तर पर हाई पावर कमेटी का गठन किया गया है। RRB NTPC Results से संबंधित शिकायतें/सुझाव rrbcommittee@railnet.gov.in पर 16.02.2022 तक भेजा जा सकता है। हाई पावर कमेटी द्वारा प्राप्त आपत्तियों की गंभीरता से जांच कर 04 मार्च तक रिपोर्ट सौंपी जाएगी ।

View attached media content

- East Central Railway (@ecrailway) 28 Jan 2022

Posted By: Arvind Dubey