कोलकाता। नई दिल्ली स्थित केरल भवन की कैंटीन में गोमांस की बिक्री को लेकर पुलिस की कथित छापेमारी के बाद उत्पन्न विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर गोमांस पर पाबंदी लगाने और खाने-पीने के मामले में हस्तक्षेप का विरोध करते हुए शुक्रवार को कोलकाता में वाम मोर्चा के नेतृत्व वाली भाषा चेतना समिति के बैनर तले गोमांस पार्टी का आयोजन किया गया।

इसमें सत्ता पक्ष तृणमूल कांग्रेस के नेता भी शामिल थे। पूर्व मेयर और माकपा नेता विकास रंजन भट्टाचार्य, पूर्व माकपा विधायक अब्दुल रज्जाक मोल्ला, संगठन के सचिव इमानुल हक और कवि सुबोध सरकार की अगुवाई में प्रदर्शनकारियों का जुलूस विक्टोरिया हाउस पहुंचा।

सभी ने गोमांस खाकर उस पर लगे प्रतिबंध का विरोध किया। नेताओं ने संघ और विहिप बैन संबंधी पोस्टर लहरा कर विरोध प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी गोमांस खाने पर पाबंदी लगाने और केरल भवन की कैंटीन में छापेमारी का विरोध किया था।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस