जोधपुर । उत्तर- पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल ने पाली में अकाल के हालात के बीच 15 अप्रैल से वाटर ट्रेन का संचालन शुरू करने के प्रस्ताव को हरी झंडी दिखा दी है। जहां रेलवे ने इसके लिए वाटर स्पेशल ट्रेन शुरू करने की तैयारियां युद्ध स्तर पर तेज कर दी हैं वही पाली जिला प्रशासन ने जोधपुर से वाटर ट्रेन से आने वाली पानी की व्यवस्थित सप्लाई से पाली शहर की प्यास बुझाने के इंतजाम कर लिए हैं।

इस संबंध में मंगलवार को रेल प्रशासन और पाली जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ डीआरएम आफिस में हुई उच्च स्तरीय बैठक में वाटर स्पेशल ट्रेन के संचालन से जुड़े प्लान पर गहन चर्चा की गई। मंडल रेल प्रबंधक सुश्री गीतिका पांडेय की अध्यक्षता में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में राज्य सरकार की ओर से संभागीय आयुक्त राजेश शर्मा ने जानकारी दी कि गर्मियों में पश्चिमी राजस्थान में पेयजल की समस्या खड़ी हो जाती है और विशेषकर पाली के लिए पेयजल की आपूर्ति जोधपुर से वाटर ट्रेन के माध्यम से करने के संबंध में राज्य सरकार ने स्वीकृति जारी की है।

बैठक में डीआरएम पांडेय ने कहा कि इस प्लान हेतु रेलवे पेयजल संकट की घड़ी में पाली जिला प्रशासन के साथ बेहतर समन्वय स्थापित कर वाटर ट्रेन से पानी सप्लाई करने के प्रति गंभीर है और मांग और उपलब्ध संशाधनों के अनुरूप वाटर ट्रेन चलाई जाएगी।

उन्होंने जानकारी दी कि भगत की कोठी से पाली के लिए प्रतिदिन दो रैक संचालित किए जाएंगे और प्रत्येक रैक में 40 वैगन होंगे। प्रत्येक वैगन में 50 हजार लीटर पानी होगा। इसके हिसाब से 40 वैगन में बीस लाख लीटर पानी आता है। इस तरह चार फेरों में कुल 80 लाख लीटर पानी प्रतिदिन पाली पहुंचेगा।

पाली जिला कलेक्टर नमित मेहता ने बैठक में जानकारी दी की जोधपुर से वाटर स्पेशल ट्रेन से आने वाले पानी को जोधपुर रोड़ स्थित हौदियों व पाइप लाइन के जरिए फिल्टर प्लांट भेजा जाएगा । फिल्टर होने के बाद पानी की सप्लाई शहर में की जाएगी। उन्होंने बताया कि बारिश नहीं होने तक यह वैकल्पिक व्यवस्था जारी रखी जायेगी।

बैठक में जलदाय विभाग जोधपुर के अतिरिक्त मुख्य अभियंता विनोद भारती, पाली एस ई मनीष माथुर,अपर मंडल रेल प्रबंधक मनोज जैन,वरिष्ठ मण्डल अभियंता मुकेश मीणा, वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक विक्रम सैनी,मंडल परिचालन प्रबंधक लोकेश कुमार भी मौजूद थे।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close