चंडीगढ़। चंडीगढ़ रेप केस को लेकर भाजपा सांसद किरण खेर के बयान को लेकर बवाल मच गया है। इसे लेकर शुरू हुई राजनीति से आहत भाजपा सांसद ने नाराजगी जताते हुए कहा कि बयान का गलत मतलब ना निकालें। दरअसल खेर ने अपने बयान में कहा था कि रेप पीड़िता को उस ऑटो रिक्शा में नहीं बैठना चाहिए था जिसमें पहले से तीन पुरूष सवार थे।

उनके इतना कहते ही उनकी आलोचना शुरू हो गई। मुद्दे पर राजनीति से आहत सांसद बोलीं कि मैंने तो कहा था कि जमाना खराब है, बच्चियों को एहतियात बरतना चाहिए। अगर कोई लड़की रात में 100 नंबर पर फोन करती है तो चंडीगढ़ पुलिस पीसीआर भेजती है। लानत है ऐसे लोगों पर जो मेरे बयान का राजनीतिकरण कर रहे हैं। आपके घर में भी बच्चियां है, आपको भी मेरी तरह कंस्ट्रक्टिव सोचना चाहिए।

यह है मामला

17 नवंबर की रात मोहाली में एक 22 वर्षीय लड़की के साथ एक ऑटो ड्रायवर और उसके दो साथियों ने रेप किया था। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। इस घटना को लेकर खेर ने एक बयान में कहा था कि मैं बच्चियों से कहना चाहती हूं कि जिस ऑटो में तीन पुरूष पहले से बैठे हों उसमें नहीं बैठना चाहिए।यह उनकी सुरक्षा के लिए कह रही हूं। हम जब बाहर जाते थे तो अभिभावक छोड़ने आते थे, हम उन्हें ऑटो या टैक्सी का नंबर लिखा देते थे। उनके इस बयान पर कांग्रेस नेता पवन बंसल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि खेर इस मामले में ऐसा बयान कैसे दे सकती हैं। वो इस गंभीर मामले को हल्के में ले रही हैं।

Posted By: