कोलकाता। पश्चिम बंगाल में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तस्करी के खिलाफ सीमा सुरक्षा बल (BSF) की हालिया कार्रवाई से हताश होकर बांग्लादेशी पशु तस्कर अब नए-नए तरीके आजमा रहे हैं। पहली बार BSF की पकड़ में एक ऐसा मामला सामने आया है जब मवेशियों को सीमा पार कराने के लिए तस्करों ने गायों की गर्दन के पीछे केले के पेड़ व पत्ते के साथ छिपाकर सॉकेट बम लगा दिया था, ताकि जवान इसकी चपेट में आ जाएं। हालांकि जान पर खेलते हुए जवानों ने मवेशियों को कब्जे में ले लिया।

इस साजिश के पर्दाफाश के बाद BSF अधिकारी भी हैरान हैं। BSF के अनुसार, साउथ बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने 24/25 जुलाई की मध्य रात्रि को ऑपरेशन के दौरान सीमावर्ती मालदा, मुर्शिदाबाद, उत्तर 24 परगना और नदिया जिले के विभिन्न स्थानों से होकर अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कराकर बांग्लादेश में अवैध रूप से तस्करी कराने का प्रयास कर रहे 365 मवेशियों को जब्त किया है।

तस्करी रोकने पर बांग्लादेशी तस्करों के समूह ने BSF जवानों पर जानलेवा हमला भी किया। हालांकि जान पर खेलते हुए जवानों ने तस्करों के मंसूबे पर पानी फेरते हुए तस्करी को नाकाम कर दिया।

Posted By: Arvind Dubey