Parakram Diwas 2023। देश में आज पराक्रम दिवस उत्साह के साथ मनाया जाता रहा है। साल 2021 में प्रधानमंत्री मोदी ने ऐलान किया था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती हर साल पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी। इसी कड़ी में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 परमवीर चक्र विजेताओं के नाम पर अंडमान निकोबार के 21 बड़े और अनाम द्वीपों के नाम रखने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के 21 सबसे बड़े अनाम द्वीपों का नामकरण 21 परमवीर चक्र विजेताओं के नाम पर करने हेतु आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप पर बनने वाले नेताजी को समर्पित राष्ट्रीय स्मारक के मॉडल का अनावरण किया।

इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आज का दिन भारतीय सेना के तीनों अंगों के लिए महत्वपूर्ण दिन है। आज प्रधानमंत्री जी की ये पहल कि अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के 21 सबसे बड़े द्वीपों को हमारे 21 परमवीर चक्र विजेताओं के नाम के साथ जोड़कर उनकी स्मृति को चीरंजीव करने का प्रयास किया गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जब देश की आजादी आगे बढ़ी और देश को नेताजी ने आजाद हिंद फौज के प्रयास से आजाद कराने का प्रयास किया तब भी इसी हिस्से को देश में सबसे पहले स्वतंत्रता प्राप्त करने का सम्मान मिला और नेताजी के हाथ से इसी द्वीप पर अपना तिरंगा पहली बार लहराया गया।

इन परमवीर चक्र विजेताओं के नाम पर द्वीप का नामकरण

- मेजर सोमनाथ शर्मा

- सूबेदार और मानद कप्तान (तत्कालीन लांस नायक) करम सिंह एम.एम,

- द्वितीय लेफ्टिनेंट राम राघोबा राणे

- नायक जदुनाथ सिंह

- कंपनी हवलदार मेजर पीरू सिंह

- कैप्टन जीएस सलारिया

- लेफ्टिनेंट कर्नल (तत्कालीन मेजर) धन सिंह थापा

- सूबेदार जोगिंदर सिंह

- मेजर शैतान सिंह

- लेफ्टिनेंट कर्नल अर्देशिर बुरजोरजी तारापोर

- लांस नायक अल्बर्ट एक्का

- मेजर होशियार सिंह

- सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल

- फ्लाइंग ऑफिसर निर्मलजीत सिंह सेखों

- मेजर रामास्वामी परमेश्वरन

- नायब सूबेदार बाना सिंह

- कैप्टन विक्रम बत्रा

- लेफ्टिनेंट मनोज कुमार पांडे

- सूबेदार मेजर (तत्कालीन राइफलमैन) संजय कुमार

- सूबेदार मेजर सेवानिवृत्त (माननीय कप्तान) ग्रेनेडियर योगेंद्र सिंह यादव

1897 में हुआ था नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म

नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी, 1897 को ओडिशा के कटक में हुआ था। इसलिए 23 जनवरी का दिन पराक्रम दिवस के रूप में देशभर में मनाया जाता है। साल 2021 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 124वें जयंती के अवसर पर पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया था। इस दिन पश्चिम बंगाल, झारखंड, त्रिपुरा और असम में इस दिन राजकीय अवकाश भी घोषित है। गौरतलब है कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आज 126वां जयंती मनाई जा रही है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close