Rashtriya Ekta Diwas 2020 Date: सरदार बल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस यानी 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस दिन देश में राष्ट्रीय एकता की भावना को बढ़ावा देने वाले कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। साल 2014 में मोदी सरकार ने इसका ऐलान किया था। इस दिन राष्ट्रीय स्तर पर रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया जाता है। केंद्र सरकार मानना है कि दुर्भाग्य से सरदार पटेल के योगदान के बारे में लोगों को पर्याप्त जानकारी नहीं है। यही कारण है कि अब सरकार लौह पुरुष पटेल के जन्म दिवस को हर साल राष्ट्रीय एकता दिवस के तौर पर मनाया जा रहा है।

2014 के लोकसभा चुनाव से पहले ही सरदार पटेल और देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की राजनीति को लेकर गर्मागर्म राजनीतिक बहस छिड़ गई थी। भाजपा की ओर से कई नेताओं ने यह संदेश देने में कोताही नहीं की थी कि पटेल ढीले पड़ गए होते तो देश का स्वरूप आज इतना बड़ा न होता। गुजरात में पटेल की सबसे उंची लौह प्रतिमा बनाने के बाद उनके नाम की शपथ दिलाकर भाजपा सरकार ने उनकी विरासत पर तो कब्जा कर ही लिया है। मोदी सरकार ने परोक्ष रूप से यह संकेत भी दे दिया था कि एकता अखंडता से छेड़छाड़ करने वालों के साथ उसी सख्ती से निपटा भी जाएगा।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस