क समय गांधी-नेहरू और बच्चन परिवार में करीबी रिश्ते थे। लेकिन किसी कारण रिश्तों में खटास आ गई। जिसको लेकर कई दावें किए जा चुके हैं। हाल ही में एक बड़ा खुलासा हुआ है। वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद संतोष भारतीय की बुक 'वी.पी.सिंह चंद्रशेखर, सोनिया गांधी और मैं' में दावा किया है कि राहुल गांधी की पढ़ाई के लिए सोनिया गांधी ने अमिताभ बच्चन से फीस का इंतजाम करने को कहा था। एक्टर ने इसमें आनाकानी की थी।

राहुल की पढ़ाई को लेकर परेशान थी सोनिया

संतोष भारतीय ने किताब में लिखा है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद सोनिया अपने बेटे की स्टडी को लेकर परेशान थी। राहुल उस समय लंदन में पढ़ाई कर रहे थे। सोनिया ने इस बारे में अमिताभ बच्चन को बताया था। लेखक के मुताबिक एक्टर ने पैसों का इंतजाम करने से मना कर दिया था। बच्चन ने कहा था कि ललित सूरी और सतीश शर्मा ने पैसों की गड़बड़ कर दिए।

सोनिया गांधी ने लौटा दिया चेक

बुक में दावा किया गया है कि जब राजीव गांधी जिंदा थे। तब ललित, सतीश और अमिताभ ने मिलकर राइस का बिजनेस शुरू किया था। संतोष भारतीय ने कहा कि अमिताभ बच्चन ने सोनिया को एक हजार डॉलर का चेक भिजवाया था, लेकिन उन्होंने वापस कर दिया था। पुस्तक में कहा गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष इस घटना को भूल नहीं पाई। उन्होंने बच्चन को अपनी लाइफ से हमेशा से बाहर निकाल दिया।

तेजी बच्चन और इंदिरा में अच्छे संबंध थे

संतोष भारतीय ने किताब में लिखा है कि एक समय अमिताभ बच्चन ने संजय गांधी से 20 लाख रुपए मांगे थे। लेकिन संजय के इतनी रकम नहीं थी। लेखक ने दावा किया है कि इस घटना के बाद से अमिताभ ने संजय से दूरी बनाना शुरू कर दी थी। उनकी माता (तेजी बच्चन) और इंदिरा के बीच अच्छे संबंध थे। इस कारण दोनों परिवार करीब होते गए।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close