भुवनेश्वर। भारत ने हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल 'अस्त्र' का सफल परीक्षण किया है। यह परीक्षण ओडिशा के बंगोप सागर तट पर किया। 'अस्त्र' पूरी तरह से स्वदेशी तकनीकी से बनाई गई पहली एयर टू एयर मिसाइल है। यह मिसाइल सुपर सोनिक गति से हवा में उड़ रहे किसी भी लक्ष्य को निशाना बना सकती है और इसकी रफ्तार 5555 किमी प्रति घंटा है।

यह मिसाइल सुखोई जैसे लड़ाकू विमानों से 70 किलोमीटर दूर से ही दुश्मन को मार गिराने की क्षमता से लैस है। मिसाइल को लड़ाकू विमान सुखोई से लांच किया गया था। रडार, इलेक्ट्रो अप्टिकल ट्राकिंग सिस्टम एवं सेंसर की मदद से इस मिसाइल को ट्रैक किया गया था। इसी से पता चला कि 'अस्त्र' का परीक्षण सफल रहा। इस मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ और वायुसेना को बधाई दी। 'अस्त्र' के अभी तक कई परीक्षण किए जा चुके हैं। इसे डीआरडीओ के साथ अन्य 50 सरकारी और गैरसरकारी संस्थाओं ने मिलकर बनाया है।

इससे पहले भारत रक्षा के क्षेत्र में कई उपलब्धियों को हासिल कर चुका है। भारत के पास दुश्मन को मात देने के लिए कई तरह की मिसाइलें है, जिनसे परमाणु अस्त्र भी ले जाए जा सकते हैं।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस