रोहतक। बस में युवकों की धुनाई करने से चर्चा में आईं रोहतक की बहनों पूजा और आरती पर सवाल उठाने वाले लोगों की सूची बढ़ती जा रही है। अब एक युवक सामने आया है, जिसका आरोप है कि इन बहनों ने उस पर छेड़छाड़ का झूठा केस बनाकर 20 हजार रु.ऐंठे थे।

हरियाणा के सिसाना के रहने वाले सुमित नाम के युवक ने आरोप लगाया है कि 6 महीने पहले इन दोनों बहनों ने उसके खिलाफ छेड़खानी की झूठी शिकायत दर्ज करवाई थी और केस वापस लेने के लिए 20 हजार रु. की मांग की थी। युवक का कहना है कि बदनामी के डर से उसके पिता ने न सिर्फ लड़कियों को 20 हजार रु. दिए, बल्कि उसे कॉलेज भेजना भी बंद कर दिया।

सुमित के पिता रामफूल ने कहा, "इन दोनों बहनों ने मेरे बेटे पर बस में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। जिस दिन की घटना है, उस दिन हमारा लड़का कॉलेज से जल्दी आ गया था और वह उस बस में था ही नहीं। मगर हम इतने परेशान हुए कि 20 हजार रुपए देकर जान छुड़ाने के अलावा और कोई रास्ता नजर नहीं आया। यही नहीं, हमने बेटे का कॉलेज भी छुड़वा दिया।"

सुमित ने कहा, "मुझे मेरे दोस्तों से जानकारी मिली थी कि मेरे खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज की गई है। मैं पिताजी के साथ पुलिस स्टेशन गया तो पता चला कि इन बहनों ने मेरे खिलाफ शिकायत की है। मैं तो उन्हें जानता तक नहीं था। मगर वहां पर मौजूद हर शख्स लड़कियों की बात को सच मान रहा था। मजबूरन हमें उनके साथ समझौता करना पड़ा।"

सुमित के पिता का कहना है कि अब वह इन लड़कियों के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे दोनों कोर्ट में गवाही देने के लिए भी तैयार हैं। मगर दोनों बहनों के पिता का कहना है कि लोग अब इस मामले से ध्यान भटकाने के लिए साजिश के तहत तरह-तरह की कहानियां लेकर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि उस लड़के ने उस वक्त तो माफी मांगी थी, लेकिन अब कहानी बना रहा है। लड़कियों के पिता ने कहा कि इन सब बातों का जवाब अब कोर्ट में दिया जाएगा।

Posted By: