लखनऊ। अलीगढ़ और मेरठ के बाद अब उप्र के सभी जिलों में सड़क पर नमाज पढ़ने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अब खास मौकों पर ऐसे आयोजन के लिए जिला प्रशासन से अनुमति लेनी होगी।

इसके अलावा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस महानिदेशक (DGP) ओपी सिंह ने सभी ADG जोन, IG/DIG रेंज, SSP/SP को निर्देश दिया है।

इसके अनुसार अलीगढ़ व मेरठ की तरह सार्वजनिक स्थानों पर ऐसे धार्मिक आयोजन न हों, जिससे व्यवधान पैदा हो और यातायात प्रभावित हो।

DGP ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने के साथ ही सभी स्थानों पर सघन चेकिंग करने, फुट पेट्रोलिंग किये जाने व हर संदिग्ध पर कड़ी निगाह रखे जाने के निर्देश दिये हैं। संवेदनशील स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करने का निर्देश भी दिया गया है।

मेरठ में एक सप्ताह से बंद

मेरठ में भी गत दिनों सड़क पर नमाज पढ़ने को लेकर दूसरे समुदाय के लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था। कहीं तो दूसरे समुदाय ने भी भजन-कीर्तन का कार्यक्रम शुरू कर दिया था।

टकराव और न बढ़े, इसके मद्देनजर गत बुधवार को सभी थानों को निर्देश दिए गए थे कि जुमे की नमाज मस्जिद के भीतर ही पढ़ी जाए।

इसके बाद जिन मस्जिदों में छतों पर जगह थी, वहां छतों पर नमाज पढ़ी गई और जहां यह व्यवस्था नहीं थी, वहां फुटपाथ और गलियों में नमाज पढ़ी गई।