बरेली। उप्र के बरेली मंडल में गुरुवार को 24 घंटों के अंदर 24 और लोगों की बुखार से मौत हो गई। सबसे ज्यादा मौतें शाहजहांपुर में हुईं। यहां 11 लोगों ने बुखार की चपेट में आकर दम तोड़ दिया। इसके साथ ही मंडल में बुखार से मरने वाले लोगों की संख्या 360 के पार पहुंच गई है। अब तक सबसे ज्यादा प्रभावित बदायूं जिला रहा है।

यहां 184 लोगों की जिंदगी बुखार निगल गया। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग बुखार के बजाय अन्य बीमारियों से इनकी मौत होने का दावा कर रहा है। उधर, पिछले 24 घंटे में बुखार से हुई मौतों के आंकड़े चौंकाने वाले रहे। बरेली व बदायूं में बुखार से मौतों का आंकड़ा कुछ कम जरूर हुआ, मगर शाहजहांपुर में यह आंकड़ा बहुत तेजी से बढ़ गया।

शाहजहांपुर में एक दिन में 11 लोगों की बुखार से मौत हो गई। जबकि बुधवार को यहां बुखार से मरने वालों की संख्या महज तीन थी। वहीं, शाहजहांपुर के सीएमओ डॉ. आरपी रावत का कहना है कि स्थिति नियंत्रण में है। उनका दावा है कि अब तक जिले में कोई भी मौत बुखार से नहीं हुई है।

जिन मौतों के बारे में कहा जा रहा है उनकी जांच कराई जा रही है। जब तक रिपोर्ट नहीं आती। इन्हें बुखार से बताना सही नहीं होगा। बता दें कि पिछले करीब 20 दिनों से बरेली मंडल के चार जिलों बरेली, बदायूं, शाहजहांपुर और पीलीभीत में बुखार का प्रकोप फैला हुआ है।

शहर से लेकर ग्रामीणों क्षेत्रों में हजारों लोग बुखार से पीड़ित हैं। तीन दिन पहले स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बरेली पहुंचकर हालात का जायजा लिया था। लापरवाही बरतने पर एडी हेल्थ एसके अग्रवाल से बरेली व बदायूं का प्रभार छीन लिया गया था। जबकि जिला मलेरिया अधिकारी को निलंबित कर दिया था।

इसके अलावा डीजी हेल्थ डॉ. पद्माकर सिंह, केंद्र सरकार व शासन की विशेष टीमें पांच दिनों से मंडल में बुखार पर रोकथाम के लिए डटी हुई हैं। इसके बावजूद अभी भी हालत पहले की तरह बने हुए हैं।

Posted By: