Vikas Dubey Encounter: उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के पिता रामकुमार दुबे के निधन की खबर सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। वायरल मैसेज में दावा किया गया कि रामकुमार दुबे का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ। साथ ही ये भी कहा गया कि वे अपने बेटे के एनकाउंटर के बाद से गहरे सदमे में थे और बेटे विकास की मौत के बाद उन्होंने खाना-पीना छोड़ दिया था। विकास के पिता राम कुमार दुबे की हृदय गति रुकने से मौत की बात अफवाह निकली। हालांकि आला अफसरों तक मामला पहुंचते ही सीओ बिल्हौर ने दामाद दिनेश तिवारी के घर पहुंचकर जानकारी ली। वहां उनके ठीक मिलने पर हाल लेकर लौट गए।

बिकरू में विकास का घर ध्वस्त करने के बाद से पुलिस ने उसके पिता राम कुमार को शिवली में दामाद दिनेश तिवारी के घर पर रखा है। सोमवार शाम अचानक सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ी कि राम कुमार की मौत हृदय गति रुकने से हो गई है। इस पर कानपुर पुलिस व प्रशासन हरकत में आया। सीओ बिल्हौर संतोष कुमार सिह को कोतवाल वीर पाल तोमर के साथ शिवली स्थित दिनेश के घर भेजा गया। वहां राम कुमार आराम से चारपाई पर लेटे मिले। बातचीत में सीओ से उन्होंने रसूलाबाद निवासी भाई बृज किशोर के यहां जाने की इच्छा जताई। सीओ स्वजन से उनका ख्याल रखने की बात कहकर चले गए।

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी विकास दुबे 10 जुलाई को उस समय मुठभेड़ में मारा गया था जब उसने भागने की कोशिश की। बता दें कि विकास दुबे को मध्यप्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार किया गया.. उत्तर प्रदेश पुलिस जब उसे कानपुर लेकर आ रही थी तभी भागुती इलाके में हाई वे पर पुलिस की गाड़ी पलट गई। इसका फायदा उठाते हुए विकास दुबे ने पुलिसकर्मी से पिस्टल छीनकर घटनास्थल से भागने की कोशिश की। जब यूपी एसटीएफ के जवानों ने उसे सरेंडर करने के लिए कहा तो उसने फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे मारा गया।

विकास दुबे के मारे जाने पर उसके पिता रामुकमार दुबे काफी सदमें में हैं। विकास की मौत के बाद उन्होंने कहा था कि उसका (विकास का) ऐसा ही अंत होना था। बेटे की मौत के बाद से वे काफी दुखी हैं। बता दें कि वह पहले से ही लकवे के शिकार हैं। विकास की मौत के बाद पिता फिलहाल कानपुर देहात के शिवली में अपनी बेटी के यहां रह रहे थे। इसी दौरान सोमवार को सोशल मीडिया पर हार्ट अटैक से उनकी मौत होने की खबर वायरल हो गई। विकास के पिता रामकुमार दुबे की मरने की अफवाह पर बिल्हौर सीओ सन्तोष सिंह उनके घर पहुंचे। इस पर परिजनों ने बताया कि उनके पिता सकुशल है और किसी ने उनके निधन की गलत सूचना फैला दी थी।

बता दे कि 2 जुलाई की रात विकास दुबे और उसके गुर्गों ने एक डीएसपी सहित 8 पुलिस कर्मियों की नृशंस हत्या कर दी गई थी। विकास और उसके साथियों ने गिरफ्तारी के लिए आए पुलिस दल पर बिकरू गांव में हमला किया था। रात के अंधेरे में अचानक हुए हमले में पुलिस दल को संभलने का मौका नहीं मिला और अंधेरे में घात लगाकर बैठे विकास और उसके साथियों ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020