PM Kisan Samman Nidhi Yojana: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की अगली किस्त किसानों के खातों में जमा होना है। इसके लिए मोदी सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। वहीं किसानों से अपील की जा रही है कि वे अपने खाते को आधार से लिंक जरूर करवा लें। यह काम इसी महीने यानी 31 मार्च तक होना है। जिन किसानों के खाते आधार से लिंक नहीं होंगे, उन्हें राशि मिलने में परेशानी आ सकती है। साथ ही जिन किसानों में अब तक रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है, उनके पास 31 मार्च 2021 तक का मौका है। अच्छी बात यह है कि जो किसान 31 मार्च तक रजिस्ट्रेशन करवाते हैं, उन्हें 4000 रुपए मिलेंगे। नियमानुसार, योजना शुरू होने के बाद जो किसान रजिस्ट्रेशन करवाते हैं, उन्हें पहली बार में एक साथ दो किस्त मिलती है। यह राशि सीधे खातों में जमा होगी।

बता दें, PM Kisan Yojana के तहत देश के करोड़ों किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। PM Kisan Yojana के तहत तीन किस्त में राशि किसानों के खातों में जमा की जाती है। पहली किस्‍त 1 अप्रैल से 31 जुलाई के बीच, दूसरी किस्‍त 1 अगस्‍त से 30 नवंबर के बीच और आखिरी किस्‍त 1 द‍िसंबर से 31 दिसंबर के बीच सीधे खातों में ट्रांसफर होती है। इस तरह सरकार सालाना छह हजार रुपए किसानों के खातों में जमा करती है। अब तक देश में 1169 करोड़ किसान पीएम किसान सम्‍मान निधि पा रहे हैं।

आधार से खाते की लिंकिंग इन राज्यों के लिए जरूरी

PM Kisan Yojana के तहत खाते की आधार से लिंकिंग इस बार जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, मेघालय और असम के किसानों के लिए जरूरी है। क्योंकि बाकी प्रदेशों के किसान पहले ही यह काम कर चुके हैं। इन किसानों को दिसंबर 2019 में आधार को खातों से लिंक करवा दिया गया था। अधिकारियों के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, मेघालय और असम के किसानों के लिए 31 मार्च की तारीख रखी गई है। यदि ये किसान ऐसा नहीं करते हैं तो PM Kisan Yojna की राशि जमा नहीं होगी। जिन किसानों में अब तक PM Kisan Yojna के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है, उनके पास 31 मार्च तक का समय है। जो किसान अब रजिस्ट्रेशन करवाएंगे, उन्हें 1 अगस्‍त से 30 नवंबर के बीच दूसरी किस्त मिलेगी।

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Online Registration 2021

योजना के शुरुआती दौर में केवल 2 हेक्टेयर यानी 5 एकड़ जमीन वाले किसानों को शामिल किया जाता था, लेकिन अब सभी किसानों को इसका लाभ दिया जा रहा है। आवेदन का तरीका नीचे बताया गया है। जमीन के कागजात जैसे खसर, खतौनी होने अनिवार्य हैं। आवेदन करने वाले किसान के आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, बैंक खाता पासबुक, और पासपोर्ट साइज फोटो होना चाहए।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags