जोधपुर। कमिश्ररेट की जिला CST टीम रात को बासनी में बायोडीजल पकड़ने के लिए गई। सिविल ड्रेस में पहुंची इस टीम को लोगों ने नहीं पहचाना और उन पर हमला बोल दिया। इस हमले में दो-तीन कांस्टेबल घायल हो गए। परेशानी की बात ये हुई कि टीम ने दबिश देने से पहले बासनी पुलिस को भी सूचना नहीं दी। टीम के निरीक्षक ने देर रात बासनी थाने में हत्या प्रयास, राजकार्य में बाधा उत्पन्न किए जाने से संबंधित नामजद रिपोर्ट दी है। बासनी पुलिस की तरफ से अब इसमें जांच की जा रही है। वैसे टीम को मौके पर एक टैंकर से कुछ बायोडीजल भी मिला है।

बासनी थानाधिकारी पाना चौधरी ने बताया कि सीएसटी टीम बासनी इलाके में सांगरिया के पास में एक ढाणी पर बायोडीजल को पकड़ने के लिए दबिश देने पहुंची। सिविल ड्रेस में गये टीम के लोगों ने डीजल बेचनेवालों ने पहचाना नहीं और मारपीट पर उतारू हो गए। इसमें थानाराम और गंगाराम आदि चोटिल हो गए। बताया गया कि घर व आस पास मौजूद महिलाओं ने इस टीम का विरोध करते हुए पत्थर फेंके।

थानाधिकारी ने बताया कि टीम ने दबिश से पहले पुलिस को भी सूचना नहीं दी। इसके अलावा सिविल ड्रेस में होने के साथ ये लोग बिना नंबरवाली गाड़ी लेकर गए थे। इससे स्थानीय लोग समझ नहीं पाए कि ये कौन हैं। दो तीन दिन पहले भी वहां की ढाणी में मारपीट हुई थी। इसलिए उन्हें गलत लोगों के पहुंचने का शक हुआ। बहरहाल, बासनी थाने में इस बारे में हत्या के प्रयास और राजकार्य में बाधा डालने का केस दर्ज किया गया है।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags