जयपुर। नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) की 3 फरवरी में जारी रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान में स्वाइन फ्लू से सबसे ज्यादा नुकसान हो रहा है, क्योंकि राज्य में इस रोग से अब तक 85 मौतें हो चुकी हैं, जबकि इन्फ्लूएंजा से 2,263 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। राजस्थान के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय पहले ही एक टीम रवाना कर चुका है।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, आमतौर पर स्वाइन फ्लू के रूप में पहचाने जाने वाले H1N1 वायरस से अब तक देश भर में 226 मौतें हो चुकी है। स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए की गई कार्रवाई की समीक्षा के लिए बुधवार को सचिव प्रीति सूदन की अध्यक्षता में स्वास्थ्य मंत्रालय की एक बैठक हुई। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार एक जनवरी से अब तक जोधपुर में सबसे अधिक 25 स्वाइन फ्लू पीड़ित मरीजों की मौत हुई है।

राजस्थान के बाद स्वाइन फ्लू से सबसे ज्यादा मौतें गुजरात (43) में हुईं। गुजरात के बाद पंजाब में इस रोग से 30 मौतें हो चुकी है। वहीं साल 2019 में 6,600 से ज्यादा स्वाइन फ्लू के मामले दर्ज किए गए हैं।

राजस्थान में स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, बीकानेर और अजमेर जिलों में सघन स्क्रीनिंग अभियान के तहत पहले दिन कुल 7 लाख 17 हजार 705 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गई। राज्य में स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से सोमवार से सघन स्क्रीनिंग अभियान फिर शुरू किया गया है। यह अभियान नौ फरवरी तक संचालित किया जाएगा।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan