संवाद सूत्र, अजमेर। सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के 62 साल के खादिम सलीमुद्दीन उर्फ सलीम बाबू की 26 वर्षीय पत्नी सना ने आरोप लगाया है कि पति ने उन्हें तीन तलाक दे दिया है।

सना ने दरगाह पुलिस थाने में पति के खिलाफ तीन तलाक दिए जाने की शिकायत की है। पुलिस ने घरेलू हिंसा का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

अभी संसद में पारित विधेयक का कोई नोटिफिकेशन नहीं मिला है। महिला को राहत मिले, उसके साथ मानसिक प्रताड़ना व पारिवारिक हिंसा न हो, इसके लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

यहां आ रही है अड़चन

दरअसल, पुलिस को नए कानून की जानकारी नहीं है। ऐसे में विधिक जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस तत्काल तीन तलाक से संबंधित कानून के विस्तृृत प्रावधानों का इंतजार कर रही है, क्योंकि अभी तक तीन तलाक पर कार्रवाई को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। अजमेर के पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप का कहना है कि दरगाह थाने में तीन तलाक का मामला आया है।

ये है पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक सना का आरोप है कि 2017 में शादी के बाद से ही उसका पति उसके साथ मारपीट करता है। पति ने उसके भाई से दो लाख रुपये उधार लिए थे और लौटाने से मना कर दिया। इसे लेकर भी आए दिन दोनों के बीच झगड़ा होता रहता था। इसी झगड़े के चलते सलीमुद्दीन ने उसे तीन तलाक बोल दिया। पुलिस के अनुसार पीड़िता की शिकायत से घरेलू हिंसा होने की जानकारी मिल रही है इसलिए घरेलू हिंसा का मामला दर्ज कर लिया गया है। जांच जारी है।

Posted By: Navodit Saktawat