Palmistry Lucky Sign । हस्तरेखा ज्योतिष में मान्यता हैं कि हाथ की रेखाएं हमारे कर्मों के आधार पर तय होती है और जैसा काम करेंगे, वैसा ही हमें फल मिलेगा। यानी हम हाथ की रेखाओं के आधार पर यह जान सकते हैं कि हमारे किस्मत कैसी रहेगी। हाथ की रेखाओं के बीच कुछ ऐसे लकी निशान होते हैं, जिन्हें अक्सर लोग इग्नोर कर देते हैं। हम यहां आपको हथेली में मौजूद एक ऐसे भाग्यशाली चिन्ह के बारे में बता रहे हैं, जिसकी मौजूदगी आपकी किस्मत बदल सकती है। जिन लोगों के हाथों में 'V' का निशान पाया जाता है, ऐसे लोगों की किस्मत 35 साल की उम्र के बाद अचानक बदलती है और उन्हें धन लाभ होता है।

Palmistry lucky Sign in Hands: हाथ में हो ऐसे 7 चिह्न तो व्यक्ति बनता है  खूब धनवान और भाग्यशाली

हथेली में ऐसे चेक करें V का निशान

भाग्यशाली लोगों की हथेली पर 'V' का निशान पाया जाता है। हथेली पर ये लकी निशान हृदय रेखा पर तर्जनी और मध्यमा अंगुली (इंडेक्स और मिडिल फिंगर) के ठीक नीचे बनता है।

Palmistry - Wikipedia

हथेली में V के चिन्ह की खासियत

- हथेली पर 'V' का निशान से रिलेशनशिप और इमोशन से जुड़ी बातें बताता है।

- हथेली में V के निशान से व्यक्ति के व्यवहार का पता लगा सकते हैं।

- जिन लोगों की हथेली पर ये निशान होता है, वे बेहद भाग्यशाली, कामयाब और पैसे वाले होते हैं।

- हथेली पर ये 'V' का निशान होने पर ऐसे लोग भाग्यशाली होते हैं, बल्कि अपने समूचे जीवन में खुशमिजाज लोगों से भी मिलते हैं।

Palmist Vector Art Stock Images | Depositphotos

- ऐसे लोगों अधिकांश सकारात्मक विचार वाले होते हैं। इन लोगों वफादार और समझदार पार्टनर मिलने की संभावना भी बहुत ज्यादा रहती हैं।

- किसी दोस्त या रिश्तेदार की मदद के लिए ऐसे लोग हमेशा तत्पर रहते हैं। ऐसे लोगों पर आंख बंद करके भरोसा किया जा सकता है।

- इतना होने पर भी 'V' निशान वाले सभी लोगों को समाज में मान-सम्मान और प्यार नहीं मिलता है। जीवन के शुरुआती पड़ाव पर बहुत संघर्ष भी करना पड़ता है।

- 35 साल के बाद इन लोगों की जिंदगी में बदलाव शुरू होता है। करियर, बिजनेस या नौकरी के मामले में सफलता मिलती है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close