- आर. डी. सिंह

जो मनुष्य अपने माता-पिता, बड़े-बुजुर्गों का आदर-सत्कार नहीं करते, श्राद्ध-तर्पण आदि संस्कार नहीं करते, उनके परिवार में रोग, दुख, कष्ट, आर्थिक परेशानी, ऋण का भार, विवाह-बाधा व असफलता जैसी अनेक नकारात्मक स्थितियां जीवन भर बनी रहती हैं। इसीलिए पितृदोष व मातृदोष से मुक्ति के अनेक आसान उपाय इस तरह हैं।

Posted By: Amit