हर व्यक्ति जीवन में सुख शांति और संपन्नता के लिए हमेशा प्रयासरत रहता है, ऐसे में कई बार धार्मिक आस्था के चलते पूजा-पाठ और धार्मिक अनुष्ठान भी कराता है और अपने आराध्य की भक्ति भी करता है। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि व्यक्ति जानकारी के अभाव में कुछ ऐसे कदम उठा लेता है, जिससे उसे अपेक्षित लाभ नहीं मिल पाता है।

हम अक्सर देखते हैं कि मां दुर्गा के भक्त अपने घरों में भी माता के उग्र रूप की तस्वीर लगाकर रखते हैं। जबकि घरों में मां दुर्गा की शांत मुद्रा में तस्वीर लगाना ज्यादा उचित होता है। हम आपको यहां जो तस्वीर दिखा रहे हैं, वह मां दुर्गा के शांत मुद्रा की तस्वीर है, जो बहुत कम देखने को मिलती है।

इस तस्वीर की खासियत है इसमें मां दुर्गा शेर पर सवार नहीं है, जबकि हम अन्य तस्वीरों में देवी मां को शेर पर सवार होकर राक्षसों के नाश के लिए जाते हुए देखते हैं। इसके अलावा हम अक्सर देखते हैं तस्वीरों में मां दुर्गा के शेर का मुंह हमेशा खुला हुआ रहता है, जबकि इस शांत मुद्रा चित्र में शेर का मुंह बंद है।

इसी तस्वीर को आप ध्यान से देखेंगे तो यह भी देखने को मिलेगा को इसमें शेर का मुंह दांयी ओर दिया गया है, जो वापसी का प्रतीक है, जबकि अक्सर हम शेर का मुंह संहारक के रूप में खुला हुआ देखते हैं। इसके अलावा मां दुर्गा को हमेशा शेर पर सवार होकर देखा होगा, जो देवी मां का एक आक्रामक रूप होता है, जबकि इस तस्वीर में माताजी खड़ी हुई दिखाई दे रही हैं जो उनकी शांत मुद्रा का प्रतीक है।

इस शांत मुद्रा चित्र की खासियत यहीं नहीं थमती है। आप इस चित्र में देखेंगे कि देवी मां के सभी हथियार भी झुके हैं, जबकि अन्य तस्वीरों में हम हथियारों का आक्रामक रूप में देखते हैं। धार्मिक जानकारों का भी मानना है कि ऐसी तस्वीर मां दुर्गा की शांत मुद्रा की है, जिसे घर में लगाना हमेशा हितकारी होता है।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close