Nimbu Ke Totke: एक तरफ जहां खाने का टेस्ट बढ़ाने के लिए नींबू का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं ज्योतिषीय उपायों और तांत्रिक कार्यों में भी नींबू का इस्तेमाल किया जाता है। नींबू का उपयोग नजर दोष, वास्तु दोष, बाहरी हवा या टोने टोटके से बचाने के लिए भी किया जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर नींबू से जुड़े नियमों और उपायों को सही तरीके से पालन किया जाए तो यह आपके जीवन से कई प्रकार की परेशानियों से छुटकारा दिला सकता है। नींबू से जुड़े कई ऐसे टोटके हैं जो आपकी किस्मत बदल सकते हैं। नींबू आपको बुरी नजर से बचाने के लिए भी काफी मदद करता है।

नींबू से जुड़े खास उपाय

घर में नींबू का पौधा लगाने से बुरी शक्तियां घर में प्रवेश नहीं करती है। इससे वास्तु दोष का प्रभाव भी कम होता है। इसके लिए आप अपने आंगन में नींबू का पौधा जरूर लगाएं।

अगर पति-पत्नी के बीच हमेशा मनमुटाव बना रहता है तो अपने शयनकक्ष में एक बड़े बर्तन में पानी भरकर उसमें पूरे नींबू के दो हिस्से डाल दें। हर दूसरे दिन इस बर्तन का पानी बदल दें और उसमें नया नींबू डालें। यह उपाय कम से कम 1 महीने तक करें। ऐसा करने पर पति-पत्नी के संबंध मजबूत होते हैं। और प्रेम बढ़ता है।

अगर कोई व्यक्ति अचानक से बीमार हो जाता है और उस पर किसी दवा का असर नहीं होता है तो यह नजर के कारण भी हो सकता है। ऐसे में एक पूरे नींबू के ऊपर काली स्याही से 307 लिख दें और इसे 7 बार व्यक्ति पर से उसार दें। इस उपाय को करने से व्यक्ति का स्वास्थ्य जल्दी ही ठीक हो जाएगा।

अगर किसी व्यक्ति को अक्सर रात में बुरे सपने आते हैं जिससे वह डर जाता है और ठीक से सो नहीं पाता तो यह उपाय करना चाहिए। इसमें हरे नींबू को उस व्यक्ति के तकिए के नीचे रख दें। जब नींबू सूख जाए तो इसे हटा दें और एक नया हरा नींबू रख दें। ऐसा लगातार 5 बार करने से बुरे सपने आने बंद हो जाएंगे और अच्छी नींद आना शुरु हो जाएगी।

अगर मेहनत के बाद भी किसी व्यक्ति को सफलता नहीं मिलती है एक नींबू और चार लौंग अपने साथ लेकर किसी हनुमान मंदिर में जाएं। मंदिर में पहुंचकर नींबू के ऊपर चार लौंग रखकर हनुमान जी के सामने बैठ जाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें। इसके बाद सफलता के लिए हनुमान जी से प्रार्थना करें। नींबू से अपने काम की शुरुआत करें। ऐसा करने से आपके कार्य में सफलता मिलने की संभावना बढ़ जाएगी।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close