Surya Grahan 2021 Pregnancy Precautions: साल का पहला सूर्यग्रहण 10 जून को है। इसके बाद लोगों को साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर को देखने को मिलेगा। यह भी भारत में दिखाई नहीं देगा। दक्षिण अमेरिका, प्रशांत, अटलांटिक, हिंद महासागर के कुछ हिस्सों और अंटार्कटिका के लोगों को 2021 का आखिरी सूर्य ग्रहण देखने को मिलेगा। खगोल विज्ञान और ज्योतिष दोनों के अनुसार ग्रहणों को हमेशा से ही महत्वपूर्ण माना गया है। इससे जुड़ी कई स्वास्थ्य मान्यताएं हैं। सभी में से कुछ विज्ञान द्वारा समर्थित हैं, जबकि अन्य केवल सिद्धांत हैं, जिन्हें सत्य माना जाता है और प्राचीन काल से पालन किया जाता है। एक सामान्य सिद्धांत यह है कि ग्रहण गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक होते हैं और इस दौरान उन्हें अपने बच्चे की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है।

ज्योतिष के अनुसार गर्भवती महिलाओं पर सूर्य ग्रहण का बुरा प्रभाव पड़ सकता है। दरअसल गर्भवती महिलाओं के लिए ग्रहण विशेष रूप से बुरा होता है और इस दौरान उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहने की आवश्यकता है।

  • गर्भवती माँ को अपने घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए क्योंकि इससे समय से पहले प्रसव या जन्म संबंधी असामान्यताएं हो सकती हैं।

  • सूर्य ग्रहण ने हमेशा गर्भवती महिलाओं के दिलों में एक तरह का डर पैदा कर दिया है। गर्भावस्था का समय हर महिला के लिए महत्वपूर्ण होता है, इसलिए सावधानी बरतना स्वाभाविक है और कुछ मानदंडों का पालन करने में कोई बुराई नहीं है।

  • इस दौरान घर मे प्रकाश का प्रवेश वर्जित माना गया है इसलिए खिड़कियों को मोटे पर्दे, अखबार या गत्ते से ढंक दें ताकि ग्रहण की किरणें आपके घर में प्रवेश न कर सकें।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags