Ganesh Jayanti 2023: हिंदू धर्म में हर महीने दोनों पक्षों की चतुर्थी तिथि गणेश जी को समर्पित मानी जाती है। माघ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि के दिन गणेश जयंती मनाई जाती है। इस बार गणेश जयंती 25 जनवरी को मनाई जाने वाली है। इस दिन बुधवार का दिन है। बुधवार का दिन गणेश जी को समर्पित है। बुधवार होने के कारण इस बार गणेश जयंती का महत्व और भी बढ़ गया है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस दिन किए गए कुछ खास उपायों से व्यक्ति को जीवन में सफलता मिलती है। इसके साथ ही लंबे समय से रुके हुए काम पूरे होते हैं। आइए जानते हैं कि वे खास उपाय कौन से हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माघ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 25 जनवरी के दिन पड़ रही है। इस बार चतुर्थी तिथि 24 जनवरी 2023 दिन मंगलवार को दोपहर 3 बजकर 22 मिनट से शुरू हो रही है। जो कि 25 जनवरी 2023 दिन बुधवार 12 बजकर 34 मिनट तक रहेगी। उदया तिथि के अनुसार गणेश जयंती 25 जनवरी को मनाई जाएगी।

बुध ग्रह कमजोर

ज्योतिष के अनुसार गणेश जी की कृपा पाने के लिए किसी जातक की कुंडली में बुध ग्रह कमजोर हो या फिर बुध दोष हो तो गणेश जयंती के दिन गणेश जी की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा करनी चाहिए। नियमित रूप से इनकी पूजा अर्चना करने से विशेष लाभ मिलता है।

बुध ग्रह के दोष

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुध ग्रह के दोषों को समाप्त करने के लिए, लंबे समय से रुके हुए कार्यों को पूरा करने के लिए जातकों को गणेश चतुर्थी के दिन मंदिर में जाकर हरी वस्तुओं का दान करना चाहिए। इसके साथ ही, गरीब या जरूरतमंद लोगों को हरे रंग के वस्त्र और उपयोगी वस्तुओं का दान लाभकारी माना गया है।

गणेश जी की विशेष कृपा

इस दिन भगवान गणेश की विशेष कृपा पाने के लिए चावल में हरी मूंग की दाल मिलाएं और किसी जरूरतमंद व्यक्ति को दान करें। इसके अलावा भीगी हुई मूंग की दाल पक्षियों को खिलाने से भगवान गणेश की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

Vastu Tips: लिविंग रूम में लगा लें ये तस्वीरें, हर काम में मिलेगी सफलता

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Ekta Sharma

  • Font Size
  • Close