Janmashtami 2022। पूरे देश में आज भगवान श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व पूरे उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान श्री कृष्ण की आज 5249 वीं जयंती है। धार्मिक मान्यता है कि भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को भगवान कृष्ण का जन्म मध्य रात्रि को हुआ था।

125 साल तक धरती पर रहे थे भगवान श्रीकृष्ण

पौराणिक शास्त्रों के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण द्वापर के अंत में धरती पर 125 वर्ष तक रहे थे। उनकी इस आयु 5117 वर्ष को जोड़ दिया जाए तो भगवान श्रीकृष्ण इस साल धरती पर अपने जीवन काल का 5249 वां वर्ष पूर्ण कर लेंगे। धार्मिक ग्रंथों के मुताबिक भगवान श्रीकृष्ण जन्म 3112 ईसा पूर्व हुआ था। जब महाभारत का युद्ध हुआ था, तब श्री कृष्ण लगभग 56 वर्ष के थे।

भगवान कृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में हुआ था और भगवान कृष्ण की कुंडली में वृषभ लग्न है। इस साल कृष्ण जन्माष्टमी पर खरीदारी के लिए शुभ मुहूर्त रहेगा। इसके लिए खरीदारी का शुभ मुहूर्त सुबह 9:00 बजे से 10:30 बजे तक, दोपहर 12:00 बजे से 02:30 बजे तक और शाम को 5:30 से 7:30 बजे तक रहेगा।

भगवान विष्णु के अवतार हैं श्रीकृष्ण

पौराणिक मान्यता के अनुसार श्रीकृष्ण त्रिदेवों में से एक भगवान विष्णु के अवतार हैं। कृष्ण के आशीर्वाद और कृपा को पाने के लिए हर साल लोग इस दिन व्रत रखते हैं और आधी रात में उनके जन्म के समय में पूजा अर्चना करते हैं। भजन कीर्तन करते हैं और जन्मोत्सव मनाते हैं।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close