Navratri 2021: शक्ति का पर्व नवरात्रि शुरू होने में अब कुछ दिन रह गए हैं। साल में चार बार नवरात्रि आती है। लेकिन सबसे अधिक जोश और उमंग अश्विन माह की नवरात्रि में देखने को मिलती है। इसमें मां दुर्गा के सभी नौ रूपों की साधना कर उत्सव मनाया जाता है। जगह जगह माता की प्रतिमा स्थापित की जाती है। फिर दशहरे के दिन विसर्जन किया जाता है। आइए जानते हैं घट स्थापना का मुहूर्त और विधि।

घट स्थापना शुभ मुहूर्त

इस वर्ष नवरात्रि का पावन त्योहार 7 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। जो 15 अक्टूबर तक रहेगा। चैत्र नवरात्रि की तरह अश्विन महीने की नवरात्र में घरों में घट स्थापना की जाती है। इस साल घट स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 17 मिनट से 10 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 46 मिनट से दोपहर 12 बजकर 32 मिनट तक रहेगा। वहीं पारण का मुहूर्त 15 अक्टूबर शाम 06 बजकर 22 मिनट के बाद रहेगा।

ऐसे करें घट स्थापना

घट स्थापना के लिए मिट्टी के बर्तन में सात प्रकार के अनाज रखें। फिर कलश में स्वच्छ जल भरकर उसे मिट्टी के पात्र के ऊपर रख दें। अब कलश के ऊपर पत्ते रखें और लाल वस्त्र में नारियल बांध कर रखें। अब भगवान गणेश व कलश की पूजा कर देवी का आह्वान करें।

नवरात्रि 2021 की तिथियां

7 अक्टूबर: मां शैलपुत्री

8 अक्टूबर: मां ब्रह्मचारिणी

9 अक्टूबर: मां चंद्रघंटा व माता कुष्मांडा

10 अक्टूबर: मां स्कंदमाता

11 अक्टूबर: मां कात्यायनी

12 अक्टूबर: माता कालरात्रि

13 अक्टूबर: माता महागौरी

14 अक्टूबर: माता सिद्धिदात्री

15 अक्टूबर: दशहरा

Posted By: Navodit Saktawat