Paush Purnima 2022: इस साल पौष माह की पूर्णिमा 17 जनवरी के दिन पड़ रही है। हिंदू धर्म में पूर्णिमा (Purnima 2022) का विशेष महत्व है। इस दिन स्नान-ध्यान, पूजा, जप-तप और दान का विशेष महत्व है। इसलिए इस दिन पवित्र नदियों और सरोवरों में डुबकी लगाई जाती है। ऐसी मान्यता है कि पौष पूर्णिमा के दिन सच्ची श्रद्धा से भगवान श्रीहरि विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से घर में सुख, समृद्धि और शांति का आगमन होता है। साथ ही कुछ सरल उपायों को करने से भी घर में धन की प्राप्ति होती है।

जानें तिथि और शुभ मुहूर्त

पौष पूर्णिमा तिथि 17 जनवरी देर रात 3 बजकर 18 मिनट से शुरू होगी और 18 जनवरी को सुबह 5 बजकर 17 मिनट पर समाप्त होगी।

धन-संपदा और समृद्धि के लिए करें ये उपाय

  • पूर्णिमा के दिन मुख्य द्वार समेत घर के दरवाजों पर आम या अशोक के पत्तों का तोरण लगाएं। इसके साथ ही दरवाजे पर स्वास्तिक बनवाएं। ऐसा करने से घर में मां लक्ष्मी का आगमन होता है।
  • पुराणों के मुताबिक पूर्णिमा के दिन दान करने से अश्वमेघ यज्ञ जितने फल की प्राप्ति होती है। इसलिए इस दिन जितना संभव हो सके, गरीबों और जरूरतमंदों को दान करें। ऐसा करने से धन का आगमन होता है।
  • मां लक्ष्मी की कृपा के लिए स्नान ध्यान के बाद पूजा के समय 11 कौड़ियां लक्ष्मी जी के सन्मुख रख दें। फिर हाथ जोड़कर धन प्राप्ति की कामना करें। अगले दिन इन कौड़ियों को लाल रंग के कपड़े में बांधकर तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से धन में वृद्धि होगी।
  • पौष पूर्णिमा के दिन मंदिर में लक्ष्मी यंत्र, कुबेर यंत्र और व्यापार यंत्र स्थापित करें और मां लक्ष्मी की विधिपूर्वक पूजा करें। मां को गुलाबी रंग अतिप्रिय है। अत: मां को गुलाबी रंग के फूल जरूर अर्पित करें।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Shailendra Kumar