Surya Grahan Chandra Grahan 2020: सूर्य ग्रहण के बाद अब अगले 5 जुलाई को चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। इस वर्ष एक और और सूर्य ग्रहण लगेगा। 21 जून का सूर्य ग्रहण (solar eclipse) बीत चुका है। लखनऊ, पटना, जयपुर, दिल्ली, भोपाल, देहरादून और चंडीगढ़ यानी उत्तर भारत के लोग पूर्ण सूर्य ग्रहण देखा गया। इस बार 30 दिनों के अंतराल में तीन ग्रहणों का संयोग है। इस क्रम में 5 जून को चंद्र ग्रहण था। जानिये इस साल अभी और कितने ग्रहण हैं और उनकी तारीख व समय क्‍या है।

इन तारीखों पर होंगे चंद्र ग्रहण

05 जुलाई, रविवार को सुबह 08:38 बजे से 11:21 बजे तक।

30 नवंबर, सोमवार को दोपहर 1:34 बजे से शाम 5:22 बजे तक।

इस तारीख को होगा सूर्य ग्रहण

साल का दूसरा व आखिरी सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को होगा। यह खंडग्रास प्रकार का ग्रहण होगा एवं यह भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए इसकी धार्मिक एवं ज्‍योतीष मान्‍यता नहीं है। तीथी अनुसार यह ग्रहण अगहन कृष्‍ण अमावस्‍या, सोमवार, 14 दिसंबर, 2020 को घटित होगा। विश्‍व में इसे प्रशांत महासागर, दक्षिण अफ्रीका में देखा जा सकेगा।

यहां दिखाई देगा 5 जुलाई का चंद्र ग्रहण

उप छाया चंद्र ग्रहण आगामी 5 जुलाई को लगेगा। यह भारत सहित दक्षिण एशिया के कुछ हिस्से अमेरिका, यूरोप व अस्ट्रेलिया में दिखाई देगा। चौथा उप छाया चंद्रग्रहण 30 नवंबर को लगेगा यह एशिया, आस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर, अमेरिका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। इन सभी उप छाया ग्रहणों में सूतक, नियम आदि नहीं होंगे।

2020 में चार उपछाया ग्रहण हैं

वर्ष 2020 में जो ग्रहण लगेंगे उनमें केवल एक ही दिखाई देगा। इस साल 4 उप ग्रहण होंगे, जिसमें उपछाया चंद्रग्रहण पड़ेगा। इन ग्रहणों का भारत में कोई असर नहीं पड़ेगा 10 जनवरी को लगा चंद्रग्रहण उपछाया था, जिसका कोई सूतक नहीं गा। इसलिए मंदिरों के पट भी बंद नहीं हुए। भारत में सिर्फ दो ग्रहण ही दिखाई देंगे। जिसमें पहला आज 21 जून को लगा सूर्यग्रहण है। दूसरा आगामी 14-15 दिसंबर को लगने वाला खंडग्रास सूर्यग्रहण होगा। ये दोनों ही ग्रहण भारत में दिखाई देंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार उपछाया ग्रहण वास्तव में चंद्रग्रहण नहीं होता है।

इसलिए सीधे देखना होता है जोखिम भरा

सूर्य ग्रहण को सीधे आंखों से नहीं देखने की सलाह दी जाती है। इसका कारण यह है कि सूर्यग्रहण के दौरान सूर्य से काफी हानिकारक सोलर रेडिएशन निकलते हैं जिससे कि आंखों के नाजुक टिशू डैमेज हो जाते हैं। वलयाकार सूर्य ग्रहण तब लगता है जब चांद पृथ्वी से बेहद दूर रहने हुए सूर्य और पृथ्वी के बीच में इस तरह से आ जाता है। जिससे चांद सूर्य की आधे से ज्यादा रोशनी को रोक लेता है।

इस साल कुल इतने ग्रहण

- पहला ग्रहण: 10-11 जनवरी, चंद्र ग्रहण हुआ

- दूसरा ग्रहण: 5 जून को होगा, यह चंद्र ग्रहण हुआ

- तीसरा ग्रहण: 21 जून को होगा, यह सूर्य ग्रहण हुआ

- चौथा ग्रहण: 5 जुलाई को होगा, यह चंद्र ग्रहण होगा

- पांचवा ग्रहण: 30 नवंबर को होगा, यह चंद्र ग्रहण होगा

- छठा ग्रहण: 14 दिसंबर को होगा, यह सूर्य ग्रहण होगा

21 जून को लगे सूर्य ग्रहण की खबरें चूक गए हों तो ये वीडियो जरूर देखें

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना