मल्टीमीडिया डेस्क। Happy Birthday Kuldeep Yadav: भारत के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव का आज (14 दिसंबर) जन्मदिन है। 25 साल के हो गए कुलदीप को अब वेस्टइंडीज के खिलाफ शनिवार से शुरू हो रही वनडे सीरीज का इंतजार है। उनके नाम क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में पारी में 5 विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज होने की उपलब्धि दर्ज है।

कुलदीप ने 25 मार्च 2017 को धर्मशाला टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इंटरनेशनल डेब्यू किया था। वे इस छोटे से इंटरनेशनल करियर में 6 टेस्ट, 53 वनडे और 19 टी20 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने इस दौरान कुल 153 इंटरनेशनल विकेट हासिल किए हैं। उन्होंने 2018 में इंग्लैंड दौरे पर धमाकेदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने 3 जुलाई 2018 को मैनचेस्टर में टी20 मैच में इंग्लैंड के खिलाफ 24 रनों पर 5 विकेट हासिल किए थे।

इस चाइनामैन गेंदबाज का इसके बाद 12 जुलाई 2018 को मैनचेस्टर में हुए वनडे में कहर बरपा और उन्होंने 25 रनों पर 6 विकेट लिए थे। उन्होंने इसी कड़ी में 4 अक्टूबर 2018 से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हुए राजकोट टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 57 रनों पर 5 विकेट लिए थे। वे इसी के साथ तीनों फॉर्मेट में पारी में 5 विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज बने थे। उनसे पहले यह कारनामा सिर्फ भुवनेश्वर कुमार ने अंजाम दिया था। भुवी ने यह उपलब्धि 18 फरवरी 2018 को जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 मैच के दौरान हासिल की थी।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ODI में यादगार हैट्रिक:

कुलदीप इस अल्प करियर के दौरान इंटरनेशनल वनडे में हैट्रिक भी ले चुके हैं। उन्होंने यह करिश्मा 21 सितंबर 2017 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक ईडन गार्डंस में किया था। उन्होंने वनडे मैच में पारी के 33वें ओवर में इस उपलब्धि को हासिल किया। उन्होंने इस दौरान मैथ्यू वेड, एश्टोन एगर और पैट कमिंस को शिकार बनाया। उन्होंने ओवर की दूसरी गेंद पर वेड (2) को बोल्ड किया। अगली गेंद पर एगर एलबीडब्ल्यू होकर पैवेलियन लौटे। उन्होंने इसके बाद अगली गेंद पर कमिंस को विकेटकीपर धोनी के हाथों झिलवाकर हैट्रिक पूरी की।

तेज गेंदबाज से शुरुआत कर स्पिनर बने थे कुलदीप :

कुलदीप करियर की शुरुआत में तेज गेंदबाजी करते थे। जब उन्होंने कानपुर में एक एकेडमी ज्वॉइन की तब कोच कपिल पांडे ने उन्हें तेज गेंदबाजी की बजाए स्पिन गेंदबाजी करने की सलाह दी। इसके बाद कुलदीप के करियर में निर्णायक मोड़ आया। वे पहली बार 2004 में अंडर-19 वर्ल्ड कप के दौरान सुर्खियों में आए। दुबई में हुए इस वर्ल्ड कप में उन्होंने स्कॉटलैंड के खिलाफ हैट्रिक ली थी। उन्होंने कुल 14 विकेट लिए और वे इस वर्ल्ड कप में संयुक्त रूप से दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे।

Posted By: Kiran Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना