Nitin Menon in ICC Elite Panel of Umpires: इंदौर के Nitin Menon सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के अंपायरों के एलीट पैनल में शामिल होने वाले सबसे युवा अंपायर बन गए हैं। उन्हें इंग्लैंड के Nigel Llong की जगह 2020-21 सत्र के लिए एलीट पैनल में शामिल किया गया है। Nitin Menon अंपायरों के आईसीसी एलीट पैनल में शामिल होने वाले भारत के तीसरे अंपायर बने।

36 साल के Nitin Menon को तीन टेस्ट, 24 वनडे और 16 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में अंपायरिंग का अनुभव है। वे इस सूची में जगह बनाने वाले पूर्व कप्तान श्रीनिवास वेंकटराघवन और सुंदरम रवि के बाद तीसरे भारतीय हैं। रवि को पिछले साल इस पैनल से बाहर कर किया गया था। Nitin Menon से पहले इंग्लैंड के 40 वर्षीय माइकल गॉफ मौजूदा पैनल में शामिल सबसे युवा अंपायर थे।

मेनन ने 22 साल की उम्र में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना छोड़ दिया था और 23 साल की उम्र में वे सीनियर अंपायर के तौर पर BCCI से मान्यता प्राप्त मैचों में अंपायरिंग करने लगे थे। ICC के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ अलार्डिंस (अध्यक्ष), पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर संजय मांजरेकर और मैच रेफरियों रंजन मदुगले एवं डेविड बून की चयन समिति ने नितिन मेनन का चुनाव किया। मेनन इससे पहले अंपायरों के Emirates ICC International Panel का हिस्सा थे।

कोविड-19 महामारी के कारण आईसीसी ने स्थानीय अंपायरों के इस्तेमाल की योजना बनाई है जिससे मेनन अगले साल भारत में इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में मैच अधिकारी की भूमिका निभा सकते है। आईसीसी अगर इस नियम को हटाती है तो वह अलगे साल ऑस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज में भी अंपायरिंग करते दिख सकते हैं। पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर Narndra Menon के बेटे नितिन मेनन ने मध्यप्रदेश के लिए दो लिस्ट-ए मुकाबले खेले हैं। वे पिछले 13 साल से अंपायरिंग कर रहे है।

मेरी प्राथमिकता तो देश की तरफ से खेलने की थी: नितिन मेनन

नितिन मेनन ने कहा बीसीसीआई ने 2006 में अंपायरिंग की परीक्षा आयोजित की थी, मेरे पिता Narendra Menon ने मुझे कहा था कि यदि मैं इस परीक्षा में पास हो गया तो अंपायरिंग को करियर के रूप में अपना सकता हूं। इसके चलते मैं परीक्षा में शामिल हुआ और अंपायर बन गया। मेरी प्राथमिकता तो देश की तरफ से क्रिकेट खेलने की थी, लेकिन मैंने 22 साल की उम्र में खेलना छोड़ दिया। मैं 23 साल की उम्र में सीनियर अंपायर बन गया था। इसके बाद मैंने अपना पूरा ध्यान अंपायरिंग पर लगाया। मैं आईसीसी एलीट पैनल में शामिल किए जाने पर बेहद खुश हूं और लक्ष्य प्रदर्शन में निरंतरता को बनाए रखने का रहेगा।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना