Doctor Dress: आपरेशन करते समय हरी या नीली ड्रेस क्यों पहनते हैं डाक्टर, जानिये


By Hemraj Yadav2023-02-11, 16:39 ISTnaidunia.com

तनाव दूर होता है

आपरेशन के समय खून और शरीर के अंदरूनी अंगों को देखकर डॉक्टर मानसिक तनाव में आ सकते हैं, ऐसे में हरा या नीला रंग देख उनका मस्तिष्क उस तनाव से मुक्त हो जाता है।

आंखों को चुभता नहीं

लाल और पीला रंग हमारी आंखों को ज्यादा चुभता है, वहीं हरा और नीला रंग उतना नहीं चुभता। इसी कारण हरे और नीले रंग को आंखों के लिए अच्छा माना जाता है।

मरीजों की आंखों को आराम

अस्पतालों में पर्दे से लेकर कर्मचारियों के कपड़े तक हरे या नीले रंग के ही होते हैं, ताकि वहां रहने वाले मरीजों की आंखों को आराम मिल सके, उन्हें कोई परेशानी न हो।

वैज्ञानिक दृष्टिकोण

वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखें तो हमारी आंखों का जैविक निर्माण इस तरह हुआ है कि ये किसी भी रंग को पहचान लेती हैं, लेकिन हरा या नीला रंग सबसे अच्छी तरह देख सकती हैं।

पहले पहनते थे सफेद ड्रेस

बताते हैं कि पहले आपरेशन थियेटर में डॉक्टर और कर्मचारी सफेद कपड़े पहनते थे, लेकिन वर्ष 1914 में एक प्रभावशाली डॉक्टर ने इस ड्रेस को हरे या नीले रंग में बदल दिया।

सुकून देता है रंग

आपरेशन करते समय डाक्टर एक ही अंग को लगातार देखते हैं, ऐसे में आंखों में थकान होने लगती है। इसके तुरंत बाद अगर हरे या नीले रंग को देखते हैं, तो सुकून मिलता है।

इस महाशिवरात्रि राशि के अनुसार ऐसे करें शिवजी की अभिषेक